नजीर… डीएम ने विधवा का खाना खाकर तोड़ा अंधविश्‍वास

Gopalganj dm

गोपालगंज। बिहार में गोपालगंज के डीएम राहुल कुमार ने अंधविश्‍वास को तोड़ने वाली नजीर पेश की है। उन्‍होंने एक विधवा का बनाया मिड डे मील खाया।

गोपालगंज के बरौली थाने के कल्‍याणपुर मिडिल स्‍कूल में विधवा रसोइया तैनात की गई। यहां पढ़ने वाले बच्‍चों के परिवारवालों को इसकी जानकारी मिली तो उन्‍होंने विरोध शुरू कर दिया। कई लोगों ने बच्‍चों का इस स्‍कूल से नाम कटवा दिया और स्‍कूल गेट पर ताला मार दिया। लोगों का गुस्‍सा झेल रहे स्‍कूल प्रशासन ने भी रसोइया को सस्‍पेंड कर दिया।

मामला डीएम राहुल कुमार के पास पहुंचा। डीएम शुक्रवार को सुबह सीधे उसी स्‍कूल पर पहुंचे, जहां विधवा रसोइया काम करती है। डीएम गांव आए तो भीड़ भी स्‍कूल पर पहुंच गई। डीएम ने यहां विधवा रसोइया के हाथ से बना खाना खाया। इस दौरान स्‍कूल के बच्‍चे और उनके परिवार वाले भी मौजूद थे।

gopalganj

गोपालगंज डीएम ने कहा कि शुक्रवार को स्‍कूल में 300 बच्‍चे आए थे। वे यहां के अधिकारियों से लगातार संपर्क में हैं। उन्‍होंने बताया कि विधवा रसोइया को बहाल कर दिया गया है। वह अपना काम कर रही है। उसे हटाने में किसकी भूमिका रही, यह जांचा जा रहा है।

डीएम राहुल कुमार ने चेतावनी भी दी कि अब अगर विधवा रसोइया को काम करने से रोका गया तो उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया जाएगा। उन्‍होंने ट्विटर पर भी इसकी जानकारी साझा की। बता दें कि बिहार के कई इलाकों में आज भी विधवा के हाथ का बना खाना अशुभ माना जाता है। हालांकि यह महज एक अंधविश्‍वास है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button