गोरखपुर टेरर फंडिंग नेटवर्क का मास्टरमाइंड रमेश शाह पुणे से गिरफ्तार

लखनऊ| उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र पुलिस के आतंकवाद रोधी दल (एटीएस) ने संयुक्त अभियान चलाकर गोरखपुर टेरर फंडिंग नेटवर्क के मास्टरमाइंड रमेश शाह को पुणे से गिरफ्तार किया है। गोरखपुर से 24 मार्च को गिरफ्तार किए गए आतंकियों से इसके बारे में जानकारी मिली थी। रमेश शाह आतंकियों को पैसे और जरुरी चीजें मुहैया कराया करता था।

 टेरर फंडिंग

रमेश के बारे में जानकारी मिलने के बाद यूपी एटीएस ने महाराष्ट्र एटीएस से सम्पर्क किया जिसके बाद इसे पकड़ने का अभियान चलाया गया। एक अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि रमेश की गिफ्तारी पुणे से मंगलवार को हुई और उसे ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ लाया जा रहा है।

एटीएस महानिरीक्षक असीम अरुण ने कहा कि रमेश को यहां लाए जाने के बाद उसे उत्तर प्रदेश अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा और पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया जाएगा।  अधिकारी ने बताया कि इस आपराधिक षडयंत्र में छह लोग शामिल थे और उन्होंने पकिस्तानी हैंडल के दिशानिर्देश पर इंटरनेट के जरिए विभिन्न बैंक खातों में राशि वितरित की। इन छह लोगों को 24 मार्च को गोरखपुर से गिरफ्तार किया गया था।

28 वर्षीय रमेश शाह इस गैंग का सरगना है। एटीएस अधिकारी ने कहा कि शाह के इशारे पर पाकिस्तानी हैंडलर और आतंकवादी ऑपरेटरों के बीच एक करोड़ रुपये से अधिक की राशि का आदान-प्रदान हुआ। बड़ी रकम मध्यपूर्व, जम्मू एवं कश्मीर, केरल से आती है और इसका वितरण विभिन्न राज्यों में किया जाता है।

टेरर फंडिंग का आरोपी रमेश शाह बिहार के गोपालगंज का रहने वाला है और वह बीते कई वर्षो से गोरखपुर का एक शॉपिंग मार्ट चला रहा था।

Related Articles