“बायोलॉजिकल इ” की Corbevax के ट्रायल को सरकार की मंजूरी

हैदराबाद : ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने हैदराबाद की दवा कंपनी बायोलॉजिकल ई लिमिटेड को शर्तों के साथ पांच से 18 साल की उम्र के लोगों पर कोविड वैक्सीन के ट्रायल के लिए मंजूरी दे दी है। सरकार ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर कहा की कंपनी को Corbevax नाम की वैक्सीन के दूसरे और तीसरे फेज़ के क्लीनिकल ट्रायल की अनुमति दी गई है।

Corbevax से पहले जाइडस की वैक्सीन को भी मिल चुकी है मंज़ूरी

इस कड़ी में आपकी जानकरी के लिए बता दें बायोलॉजिकल लिमिटेड की इस वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायस देश में दस स्थानों पर किया जाएगा। वैक्सीन के दूसरे और तीसरे फेज के क्लीनिकल ट्रायल का उद्देश्य बच्चों और किशोरों में इसकी सुरक्षा और असर के अलावा यह पता लगाना है कि ये कितनी मात्रा में एंटीबॉडी विकसित करती है। इस कड़ी में जानकारों के मुताबिक वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल की अनुमति एक्सपर्ट कमेटी की सिफारिशों के आधार पर दी गई।

इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें की अबतक ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडियाकी ओर से देश में विकसित की गई जाइडस की वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल को मंजूरी प्रदान की गई है, जो कि देश में 12 से 18 वर्ष की उम्र के लोगों के लिए उपलब्ध होने वाली पहली एंटी कोविड वैक्सीन बन गई है।

यह भी पढ़ें : PAN CARD को आधार से लिंक करने की तारीख तीस सितम्बर, वरना बैंक नहीं देगा पैसे

Related Articles