किसानों के आगे झुक गई सरकार, तीनो कृषि कानून होंगे वापस

नई दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा तीनों कृषि कानून वापस लिए जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह अपने संबोधन में आज यह बड़ा ऐलान किया। उन्होंने कहा कि सरकार ने नाराज किसानों को समझाने का हरसंभव प्रयास किया। कई मंचों से उनसे बातचीत हुई, लेकिन वो नहीं माने। इसलिए, अब तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला किया गया है। तीनों कृषि कानून को वापस लेने की मांग को लेकर लंबे समय से किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं।

जाने क्या बोले PM अपने संबोधन में

PM मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने यह कानून किसानों के फायदे के लिए लाया था, खासतौर पर इससे छोटे किसानों का बहुत फायदा होता. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वे इस बात को बहुत प्रयासों के बावजूद कुछ किसानों को समझा नहीं पाए जबकि कृषि अर्थशास्त्रियों, वैज्ञानिकों और प्रगतिशील किसानों ने भी उन्हें कृषि कानूनों के महत्व को समझाने का भरपूर प्रयास किया।
PM मोदी ने अपने संबोधन में कृषि क्षेत्र से जुड़े तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने के अलावा एक और बड़े फैसले का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि जीरो बजट खेती यानि प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए, देश की बदलती जरूरतों को ध्यान में रखकर क्रॉप पैटर्न को वैज्ञानिक तरीके से बदलने के लिए और एमएसपी को अधिक प्रभावी व पारदर्शी बनाने के लिए एक कमेटी का गठन किया जाएगा जो ऐसे विषयों से जुड़े निर्णय करेगी।

PM Modi leaves for home after concluding 'landmark visit' to US - India News

 

यह भी पढ़ें:रोहित ने बतौर कप्तान अपने पहले ही मैच में सिराज को जड़ दिया थपड़

Related Articles