पत्रकार पर नहीं चल सका सरकार का अत्याचार, मनदीप मामले में कोर्ट ने की सुनवाई

बता दें कि मनदीप पुनिया पर किसानों के प्रदर्शन स्थल पर तैनात पुलिसकर्मियों के साथ कथित तौर पर दुर्व्यवहार करने के आरोप था

नई दिल्ली: स्वतंत्र पत्रकार मनदीप पुनिया (Mandeep Punia) को दिल्ली की रोहिणी कोर्ट (Rohini Court) से जमानत मिल चुकी है। 30 जनवरी को सिंघु बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच झड़प के बाद गिरफ्तार किए गए पत्रकार मनदीप पुनिया को दिल्ली की रोहिणी कोर्ट ने 25 हजार के निजी मुचलके पर जमानत दे दी है। कोर्ट ने मनदीप को इस शर्त जमानत दी है कि वे बिना बताए देश के बाहर नहीं जा सकते साथ ही SHO को अपना मोबाइल नंबर और पूरा पता देंगे।

मनदीप पुनिया पर लगा था आरोप

पुनिया को शनिवार को किसानों के प्रदर्शन स्थल पर तैनात पुलिसकर्मियों के साथ कथित तौर पर दुर्व्यवहार करने के आरोप में रविवार को गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने मनदीप को जमानत देते हुए कहा है कि जब भी पुलिस को सहयोग की जरूरत होगी, वे सहयोग करेंगे। मनदीप के खिलाफ FIR खुद पुलिसकर्मियों की ओर से ही दर्ज कराई गई थी। जिसे देखते हुए कोर्ट ने कहा कि वह सबूतों और गवाहों को प्रभावित नहीं कर सकता। ऐसे में उसे जेल में रखने का फिलहाल कोई औचित्य नहीं है।

गौरतलब है कि पत्रकार मनदीप पुनिया (Mandeep Punia) को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था। बता दें कि मनदीप को बीते रविवार को सिंघू बॉर्डर (Singhu border) से गिरफ्तार किया गया था। उन पर किसानों के प्रदर्शन स्थल पर तैनात पुलिसकर्मियों के साथ कथित तौर पर दुर्व्यवहार करने के आरोप था। पूनिया को हिरासत में लिए जाने के एक दिन बाद पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि पत्रकार के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें: टिकैत का बड़ा ऐलान, बताया कब खत्म होगा आंदोलन

Related Articles

Back to top button