कोविड की नयी लहर के मद्देनज़र सरकार ने लगाई remdesivir के एक्सपोर्ट पर रोक

नई दिल्ली : कोविड मामलों में आए बेतहाशा उछाल के कारण और remdesivir की बढ़ती मांग के मद्देनजर केंद्र ने रविवार को एक बयान जारी कर रीमेडिसविर और इसके एक्टिव फार्मास्युटिकल एजेंट्स के एक्सपोर्ट पर हालत ठीक होने तक रोक लगा दी है। क्यूंकि आने वाले दिनों में इस मांग में और बढ़ोतरी होने की संभावना है।

इसी के साथ साथ हर डोमेस्टिक रीमेडिसविर मैन्युफैक्चरर को निर्देश दिए गए हैं की वह अपने स्टॉक की जानकारी वेबसाइट पर मुहैया कराते रहें ताकि ज़रुरत पड़ने पर अस्पताल और बीमार के तीमारदारों को दवा के लिए मशक्कत न करनी पड़े। इसी के साथ-साथ ड्रग्स इंस्पेक्टर और दूसरे अधिकारियों को ख़राब स्टॉक की जांच करने और दवा की होर्डिंग और कालाबाजारी को रोकने के लिए प्रभावी कार्रवाई करने के लिए भी निर्देशित किया गया है।

देश में सात कंपनी बनाती है remdesivir

आपकी जानकारी के लिए बता दें की गिलीड साइंसेज, यूएसए से एक समझौते के तहत अभी देश की सात कम्पनीज़ रीमेडिसविर का प्रोडक्शन करती हैं,और उनके पास पर मंथ लगभग 38.80 लाख यूनिट्स की प्रोडक्शन क्षमता है। देश की इन कम्पनीज को दवा बनाने में कोईं अड़चन न आए इसी लिए सरकार ने रेमेडिसविर इंजेक्शन और रेमेडिसविर के एक्टिव फ़ार्मास्युटिकल इंग्रीडिएंट्स (एपीआई) के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है।

यह भी पढ़ें : कोरोना पर नहीं लगी लगाम, राज्य Government ने स्कूलों को लेकर लिया बड़ा फैसला

Related Articles

Back to top button