21 सिंतबर से स्कूल खोलने का विचार बना रही है सरकार,अभिवावको का सीधा जवाब NO

नई दिल्ली: कोरोना के कारण स्कूल बंद चल रहे हैं, लेकिन सरकार ने 21 सितंबर से कई राज्यों में स्कूल खोलने का विचार बना लिया है।  unlock 4.0 की गाइडलाइन के अनुसार 10 वीं और 12 वीं के छात्रों के स्कूलों को खोलने की अनुमति दी गई थी. कहा गया था कि अभिभावकों  की अनुमति होना अनिवार्य है। जब तक अभिभावक लिखित रूप में नहीं देंगे तब तक बच्चा स्कूल नहीं जा सकता है।

स्कूल / Puridunia
स्कूल / Puridunia

केंद्र सरकार ने शिक्षा निर्देशालय से एक फॉर्म के जरिये अभिभावकों की राय जानने की सलाह दी थी। गूगल फॉर्म में ज्यादातर अभिभावकों ने अपने बच्चो को स्कूल भेजने से साफ़-साफ़ मना कर दिया है। देखा जाये तो कोरोना काल के चलते कोई अभिभावक अपने बच्चो को स्कूल नहीं भेजेगा।

यह भी पढ़ें: आम आदमी को बड़ा झटका, सरकार ने दी प्राइवेट ट्रेनों को किराया वसूलने की खुली छूट

आज लिया जायेगा फैसला

शिक्षा अधिकारी ने बताया की स्कूलों को फिर से खोलने पर आज फैसला लिया जा सकता है। लॉकडाउन के चलते मार्च महीने से स्कूल बंद हैं। सभी स्कूल व कॉलेजों की क्लास ऑनलाइन चलाई जा रही है, लेकिन जो बच्चे ग्रामीण क्षेत्र से हैं उनको बहुत दिक़्क़तों का सामना करना पड़ रहा है।

शिक्षकों के अनुसार शुरुआती दौर में अभिभावक अपने बच्चो को स्कूल भेजने की लिए उत्सुक नहीं थे, क्यों की अब बच्चे भी घर मै बोर हो चुके हैं, इस लिए कुछ अभिभावकों ने स्कूल खोलने का विचार व्यक्त किया है।

Related Articles

Back to top button