सरकार ने ट्विटर से कहा- भारत में नियम कानून का करना होगा पालन

नई दिल्ली: भारत सरकार ने बुधवार को ट्विटर (Twitter) के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ वर्चुअल माध्यम से वार्ता की। इस वार्ता में भारत सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सचिव अजय साहनी ने साफ कर दिया है कि भारत में ट्वीटर (Twitter) को नियम कानून का पालन करना ही होगा। ये लोकतंत्र का हिस्सा हैं, हम आजादी और आलोचना का सम्मान करते हैं। अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर सरकार के खिलाफ किसान नरसंहार (Farmer Genocide) के शब्दों और हेशटैग के दुरुपयोग की इजाजत नहीं दे सकते है। सुप्रीम कोर्ट ने भी समय समय पर इस संबंध में अनेक फैसले दिए है।

सचिव अजय साहनी ने हाल ही में ट्विटर और एक आपत्तिजनक हैशटैग के साथ हुए कई ट्वीट के बारे में बताया कि उसमे उकसाने वाली बाते ट्वीट किये गए थे। इस ट्वीट से भारत को आपत्ति थी और उन ट्वीटर अकाउंट के खिलाफ कार्रवाई की बात भी सरकार ने की थी। इसलिए ट्विटर को भारत के नियमों का पालन करना होगा। उन्होंने भारत सरकार और ट्विटर की वैश्विक टीम के बीच बेहतर सहभागिता का अनुरोध किया।

ये भी पढ़ें : कासगंज कांडः सिपाही हत्याकांड के मुख्य आरोपी पर पुलिस ने रखा इनाम

अजय साहनी ने कहा भारत देश में ट्विटर को व्यवसाय करने के लिए स्वागत है। देश में पिछले कुछ सालो में ट्वीटर का प्रसार बढ़ा है। इसलिए यहां के कानून और लोकतांत्रिक संस्थाओं का सम्मान ट्विटर को करना पड़ेगा। ट्विटर ने बताया है कि भारत सरकार के आदेशों पर नियमों के उल्लंघन के लिए 500 से अधिक अकाउ्ंटस के खिलाफ कार्रवाई करते हुए कुछ अकाउंट्स को सस्पेंड कर किया गया है। नागरिक समाज के कार्यकर्ताओं, राजनीतिज्ञों व मीडिया के ट्विटर हैंडल को ब्लॉक नहीं किया है क्योंकि ऐसा करने से अभिव्यक्ति की आजादी के मूल अधिकार का उल्लंघन होगा।

 

 

Related Articles

Back to top button