स्पेक्ट्रम नीलामी से सरकार को अधिकतम 60 हजार करोड़ मिलने का अनुमान: इकरा

नई दिल्ली: बाजार अध्ययन करने वाली कंपनी इकरा ने आज कहा कि सरकार को आगामी स्पेक्ट्रम नीलामी से 55 से 60 हजार करोड़ रुपये का राजस्व मिल सकता है क्योंकि इसमें दूरसंचार कंपनियों के बढ़ चढ़कर भाग लेने की उम्मीद कम है।

उल्लेखनीय है कि सरकार ने विभिन्न बैंड में 2251.25 मेगा हर्टज स्पेक्ट्रम की नीलामी करने को मंजूरी दी है जिससे वर्तमान आरक्षित मूल्य पर 3.92 लाख करोड़ रुपये से अधिक का राजस्व मिलने का अनुमान है। इसके लिए इसी महीने आवेदन से संबंधित प्रक्रिया शुरू की जायेगी और नीलामी आगामी मार्च में शुरू होने की संभावना है।

ये स्पेक्ट्रम 700 , 800, 900, 1800, 2100, 2300 और 2500 मेगा हर्टज फ्रीक्वेंसी बैंड में आवंटित किये जायेंगे। इससे पहले स्पेक्ट्रम की नीलामी का फैसला चार साल पूर्व वर्ष 2016 में लिया गया था। ये स्पेक्ट्रम 20 वर्ष के लिए आवंटित किये जायेंगे।

यह भी पढ़ें- अब लाल गेंद से नहीं गुलाबी गेंद से हो सभी टेस्ट मैच: शेन वॉर्न

इकरा ने कहा कि आगामी स्पेक्ट्रम नीलामी में कंपनियों में बढ़ चढ़कर भाग लेने की उम्मीद नहीं है क्योंकि जिनका स्पेक्ट्रम आवटन की अवधि समाप्त हो रही है वे सिर्फ नवीनीकरण के लिए भाग लेंगे और यह 800 मेगा हर्ट्ज तथा 1800 मेगा हर्ट्ज बैंड के लिए हो सकता है।

700 मेगाहर्ट्ज बैंड में स्पेक्ट्रम नीलामी की संभावना नगण्य है। इस नीलामी से सरकार को 55 हजार से 60 हजार करोड़ रुपये तक की राशि मिल सकती है। इसके लिए दूरसंचार उद्योग को 20 से 25 हजार करोड़ रुपये का तत्काल भुगतान करना होगा तथा शेष राशि 16 वर्षाें में चुकाना होगा।

यह भी पढ़ें- भारत-ब्रिटेन के बीच शुरू होगा एक नया युग, कई मुद्दे पर हुई सहमति: पीयूष

Related Articles