मजदूरों का ध्यान रखेगी सरकार, e-Shram Portal पर जल्द करें रजिस्ट्रेशन, मिलेगा ये लाभ

नई दिल्ली: दो साल साल से कोरोना के प्रकोप में लगे लॉकडाउन के बाद देश भर में लगभग 38 करोड़ मजदूरो के लिए मोदी सरकार ने बड़ा प्लान बनाया है। असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले जिनमे से ज्यादातर दिहाड़ी मजदूर है। लॉकडाउन लगने के बाद अब इनके हालातो को केंद्र सरकार ध्यान में रखेगी। ऐसे मजदूरों के लिए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को एक डेटा बेस तैयार करने को कहा था।

इसी कड़ी में केंद्रीय श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव (Bhupender Yadav) ने गुरुवार को ई-श्रम पोर्टल (e-Shram Portal) लॉन्च किया है। इस वेबसाइट https://register.eshram.gov.in/ पर जाकर कोई भी मजदूर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इसके बाद उन्हें अपना आधार नंबर मोबाइल नंबर और बैंक अकाउंट नंबर देना होगा। इस पोर्टल पर मजदूर को अपना बाकी ब्योरा जैसे घर का पता और काम करने की क्षमता, शिक्षा का स्तर, आमदनी आदि बताना होगा।

https://twitter.com/LabourMinistry/status/1430844062915981313?t=zWwUwccLNVUwkbSrxNdYSA&s=19

एक श्रम कार्ड और नंबर मजदूरों को मिलेगा

पोर्ट पर रजिस्ट्रेशन करने के बाद मजदूरों को एक श्रम कार्ड और नंबर जारी होगा। पूरे देशभर मे ये कार्ड और नंबर माना जाएगा। देश की किसी भी हिस्से में काम करें मजदूरों को इस कार्ड से मदद दी जाएगी। इस पोर्टल पर मजदूर अपनी शिकायत भी दर्ज करा पाएंगे। पोर्टल के लिए एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है जिसमे मजदूर मदद मांग सकते हैं।

सरकार का मकसद

इस वेबसाइट का अहम मकसद यह है कि असंगठित क्षेत्र के मजदूरों का एक डेटा बेस तैयार करना है। रजिस्ट्रेशन के माध्यम से सरकार को पता चल जाएगा की देश में कितने ऐसे मजदूर है, उनका स्तर क्या है और उनको किस तरह की मदद की जरूरत है। इसी के आधार पर केंद्र और राज्य सरकारें मजदूरों के लिए योजना बनाएगी और फिर मजदूरों को उन योजनाओं से जोड़ा जाएगा।

Related Articles