TMC सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ सरकार का विशेषाधिकार हनन नोटिस

नई दिल्ली : केंद्र सरकार (Central government) तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सांसद महुआ मोइत्रा (Mahua Moitra) के खिलाफ न्यायपालिका पर आरोप लगाने के लिए विशेषाधिकार हनन की कार्रवाई करेगी। सरकार के सूत्रों ने कहा कि टीएमसी सांसद की टिप्पणी को हल्के में नहीं लिया जा सकता और उन पर कार्रवाई की जाएगी।

एक वरिष्ठ मंत्री ने कहा कि अनुच्छेद 121 में संसद में चर्चा पर प्रतिबंध के नियम हैं और प्रावधान है कि संसद में उच्चतम न्यायालय (Supreme court) या उच्च न्यायालय (high Court) के किसी न्यायाधीश (judge) के आचरण के संबंध में कोई चर्चा नहीं की जाएगी।

इसे भी पढ़े: ममता बनर्जी ने कहा कि बंगाल भविष्य में वैश्विक निवेश का गंतव्य होगा

बता दें कि मोइत्रा (Mahua Moitra) ने सोमवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव में भाग ले रही थीं। इस दौरान उन्होंने कोई नाम नहीं लिया था लेकिन जाहिर तौर पर पूर्व CJI का जिक्र था।

अधिकारियों ने उनकी टिप्पणी को कार्यवाही से निकाला

लोकसभा में प्रक्रिया और व्यापार के संचालन के नियम 352 (5) को भी उनके खिलाफ लागू किया जा सकता है, जिसमें कहा गया है कि संसद में उच्चतर प्राधिकारी के आचरण पर चर्चा नहीं की जा सकती है जब तक कि चर्चा उचित शर्तों में तैयार की गई नियमों के आधारित न हो।

उच्चतर प्राधिकारी का अर्थ उन व्यक्तियों से है जिनके आचरण पर केवल संविधान के तहत प्रदत्त नियमों के आधार पर ही चर्चा की जा सकती है। सूत्रों के अनुसार सरकार संसद सदस्य के खिलाफ कार्रवाई पर विचार कर रही है।

Related Articles

Back to top button