राज्यपाल मुर्मू ने कहा- समाज में व्याप्त अंधविश्वास दूर करने के लिए होना होगा सक्रिय

झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने समाज में व्याप्त अंधविश्वास एवं कुरीतियों को दूर करने के लिए लोगों से सक्रियता से आगे आने का आह्वान किया है।

रांची: झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने समाज में व्याप्त अंधविश्वास एवं कुरीतियों को दूर करने के लिए लोगों से सक्रियता से आगे आने का आह्वान किया है। मुर्मू ने शुक्रवार को राजभवन में संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ) के माध्यम से बाल पत्रकारों से मुलाकात के क्रम में बात कही। इस दौरान बाल पत्रकार जानकी कुमारी, फरहीन परवीन और मोहम्मद कैफ ने आज राज भवन में राज्यपाल से संवाद स्थापित करने के क्रम नोवेल कोरोना वायरस के समय छात्रों को हुई समस्याओं से अवगत कराया। साथ ही बाल विवाह का विरोध कर शिक्षा के माध्यम से अपने सपनों को कैसे साकार किया जा सके से संबंधित अपने विचार प्रकट करते हुए कुछ प्रश्न भी पूछे, जिसका जवाब राज्यपाल ने दिया।

राज्यपाल ने कहा कि वे बच्चों से मिलना-जुलना बेहद पसंद करती हैं। वह राज्य के बहुत से कस्तूरबा गांधी विद्यालयों समेत अन्य आवासीय विद्यालय में जाकर छात्राओं से मिली हैं। कोरोना वायरस के समय स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई हो रही है लेकिन कुछ गरीब परिवार के बच्चों को स्मार्टफोन नहीं होने के कारण परेशानी होती है। शिक्षकों को ऐसे बच्चों की सहायता नोट्स इत्यादि के माध्यम से करनी चाहिए। नई शिक्षा नीति के तहत वर्ग नौ से कौशल विकास के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा।

ये भी पढ़े : दुनियाभर में 24 नवंबर को लॉन्च होगा POCO M3, लुक्स और स्पेसिफिकेशन्स हुए लीक

मुर्मू ने कहा कि राज्य में बच्चों की तस्करी को सख्ती से रोकने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि बच्चों में कुपोषण को दूर करना होगा। राज्यपाल ने बच्चों से कहा कि आप परिश्रम करें और पढ़ाई करें आपको अपनी मंजिल अवश्य मिलेगी। इस अवसर पर यूनिसेफ के मुख्य क्षेत्रीय पदाधिकारी प्रशांत दास उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button