ग्रेटर नॉएडा पुलिस: नहीं हुई मोबलिंचिंग, न ही लगवाये गये श्री राम के नारे

ग्रेटर नोएडा: बादलपुर इलाके में कुछ अज्ञात यात्रियों द्वारा किए गए हमले में घायल एक 45 वर्षीय कैब चालक की रविवार को एक निजी अस्पताल में मौत हो गई. मृतक के परिजनों ने इसे लिंचिंग बताया है. हालांकि पुलिस ने परिजनों के इस दावे से इनकार किया है.

पुलिस के मुताबिक, पीड़ित आफताब आलम को बादलपुर इलाके में अपनी कैब में घायल हालत में पाया गया था, जिसके बाद उसे पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी.

पुलिस ने रविवार की रात कहा था कि आलम जो दिल्ली के त्रिलोकपुरी इलाके में रहता था, उसने मोबाइल ऐप के माध्यम से गुरुग्राम से ली गई सवारी को बुलंदशहर में कहीं पर छोड़ा था और लौटते समय बादलपुर में उस पर हमला किया गया था.

पुलिस उपायुक्त हरीश चंद्र का बयान

उन्होंने बताया कि पुलिस की पैट्रोलिंग वैन ने दिल्ली नंबर की टैक्सी को बादलपुर-दादरी बाईपास रोड के किनारे खड़ा पाया गया था। जब उसकी जांच की गई तो ड्राइवर के बराबर वाली सीट पर पीड़ित आफताब आलम को गंभीर रूप से घायल पाया गया। पुलिस ने उसे अस्पताल पहुंचाया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, प्रथम दृष्टया ऐसा प्रतीत होता है कि बुलंदशहर में यात्री को छोड़ने के बाद आफताब आलम ने बिना किसी बुकिंग के दिल्ली के लिए कुछ अन्य यात्रियों को बिठाया था। उन्हें लगता है कि यात्रा के दौरान उनमें लड़ाई हुई और उन्होंने चालक पर हमला कर दिया. आरोपी फरार हैं और मृतक का मोबाइल फोन भी गायब है.

मर्तक के बेटे का बयान

साबिर ने कहा कि रास्ते में तीन लोग उसकी टैक्सी में बैठे थे.मेरे पिता ने तीनों की गतिविधि कुछ असामान्य देखीं तो उन्होंने मुझे फोन किया और अपना मोबाइल फोन बिना कुछ बोले चुपचाप अपने पास में रख दिया.

साबिर ने कहा कि दूसरी तरफ मैं उनकी बातचीत सुन रहा था. मैंने 41 मिनट का ऑडियो रिकॉर्ड किया है. 8:39 मिनट पर तीनों व्यक्तियों ने मेरे पिता से ”जय श्री राम” बोलने को कहा.

बाद में, आलम के मोबाइल फोन की बैट्री खत्म हो गई और वह बंद हो गया.

डीसीपी हरीश चंद्र का बयान

यह लिंचिंग का मामला नहीं है. संदिग्ध युवक कुछ वेंडर को जय श्री राम का जाप करने के लिए कह रहे थे न कि टैक्सी ड्राइवर को. हमने एक टोल प्लाजा के सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से संदिग्धों की पहचान की है और उन्हें गिरफ्तार करने के लिए एक तलाश शुरू कर दी है. संदिग्ध व्यक्ति बुलंदशहर से कैब में सवार हुए थे. उन्होंने कहा कि बाद में यह मामला संबंधित जिले में स्थानांतरित कर दिया जाएगा.

Related Articles

Back to top button