किसानों आंदोलन की आग विदेशो में लगी, ग्रेटा थनबर्ग ने दिया समर्थन

नई दिल्ली: भारत देश में दो महीने से अधिक समय से चल रहे किसान आंदोलन की आग अब दुनिया भर में लगने लगी है। कई लोग किसानों का विरोध कर रहे है तो उससे अधिक लोग सिर्फ देश के ही नहीं बल्कि विदेशो के लोग भी इसका समर्थन कर रहे है। 18 साल की ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने किसान आंदोलन का समर्थन किया है। उन्होंने ट्विटर पर समर्थन करते हुए एक टूल किट पोस्ट कर दिया था। इस ट्वीट में ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने आंदोलन को समर्थन देने के लिए कई तरीके बताए हैं। ये टूल किट पूरी प्लानिंग का हिस्सा है, जिसके तहत ग्रेटा ने किसानों के समर्थन में पोस्ट किया था।

ग्रेटा थनबर्ग का जन्म 3 जनवरी 2003 को स्वीडन के स्टॉकहोम में हुआ। उनकी मां मलेना अर्नमैन एक ओपेरा गायिका हैं एवं पिता स्वान्ते थनबर्ग एक अभिनेता हैं। किसानों के समर्थन में ट्वीट करने को लेकर दिल्ली पुलिस द्वारा एफआईआर दर्ज करने की खबर ग्रेटा थनबर्ग को लगी तो उन्होंने एक और ट्वीट किया। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि वह डरती नहीं है, अब भी किसानों के साथ खड़ी हैं, मैं किसानों के शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन के साथ हूं, मेरे ऊपर किसी प्रकार की धमकी का असर नहीं पड़ता, नफरत इसे बदल नहीं सकता।

ये भी पढ़ें : DTC ने हमेशा पुलिस बलों की तैनाती के लिए प्रदान की हैं बसें : Delhi Police

ग्रेटा थनबर्ग ने एक औरकिया ट्वीट

दिल्ली पुलिस ने ग्रेटा थनबर्ग पर एफआईआर की खबर का खंडन करते हुए कहा किसी भी व्यक्ति विशेष के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की गई है।उन्होंने कहा कि ‘टूल किट’ तैयार करने वालों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। ग्रेटा ने अपने एक्टिविज्म के चलते कम उम्र में प्रसिद्धि हासिल की। किसानों की परेशानी को देखते हुए बुधवार को उन्होंने एक ट्वीट किया। इसके बाद से भारत में काफी तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिली।

ये भी पढ़ें : America : विश्व स्तर पर LGBTQ अधिकारों की रक्षा करेंगे जो बिडेन

Related Articles

Back to top button