CM ऑफिस के सामने आत्मदाह के प्रयास में गंभीर सोफिया की मौत

पांच दिन पहले 17 जुलाई को लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय लोकभवन के बाहर आत्मदाह का प्रयास करने वाली मां-बेटी में मां की इलाज के दौरान बुधवार भोर में मौत हो गई। लखनऊ में पोसटमॉर्टम के बाद मृतक सोफिया का शव जिले के जामों आएगा। मौत की सूचना के बाद एक बार फिर जामों में पुलिस फोर्स की संख्या बढ़ाई जा रही है। जामो कोतवाली प्रभारी संजय सिंह ने बताया कि पीएम के बाद दोपहर तक शव आने की उम्मीद है।

ये है पूरा मामला 

जिले के जामों कोतवाली क्षेत्र के कस्बा निवासी सोफिया व अलगू के बीच नाली के विवाद को लेकर बीते नौ मई को मारपीट हो गई थी। जिसके बाद सोफिया की बेटी गुड़िया की ओर से अलगू के बेटे अर्जुन सहित चार लोगों पर छेड़छाड़ का केस दर्ज कराया गया था। वहीं, अर्जुन की तहरीर पर सोफिया, गुड़िया सहित तीन लोगों पर भी मुकदमा दर्ज किया गया था। बीते 17 जुलाई को सोफिया व गुड़िया ने लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए आत्मदाह का प्रयास किया। जिसमें सोफिया गंभीर रूप से जल गई थी। पुलिस ने सोफिया व उसकी बेटी को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया।

अमेठी में तीन व लखनऊ में चार पुलिस कर्मियों  के निलंबन 

घटना में अमेठी में तीन व लखनऊ में चार पुलिस कर्मियों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई भी हुई। उसके बाद मामले में सियासी दखल की बात सामने आई। मां-बेटी को आत्मदाह के लिए प्रेरित करने वाले एक नेता सहित तीन को पुलिस ने जेल भेजा। बाकी की तलाश की जा रही है।

क्या कहते हैं सिविल अस्पताल के निदेशक? 

सिविल अस्पताल के निदेशक डॉ. डी एस नेगी के मुताबिक, महिला में इंफेक्शन फैल गया था। सेप्टीसीमिया की वजह से रात 12 बजे के करीब मौत हो गई।

Related Articles