#GSTBill पर बन सकती है बात, बैकफुट पर आई कांग्रेस

0

modi_in_parliament_4_1402557564_540x540नई दिल्ली। आर्थिक सुधारों से जुड़े गुड्स एंड सर्विस टैक्‍स (#GSTBill) और रियल स्‍टेट जैसे कई महत्‍वपूर्ण बिलों को सरकार संसद के मानसून सत्र के तीसरे सप्‍ताह में पास कराने की पुरजोर कोशिश करेगी। वहीं इन बिलों पर अब #NationalHerald केस में संसद में अपने रूख के कारण चारों ओर से घिरी कांग्रेस का भी साथ मिलने की उम्‍मीद जताई जा रही है।

सरकार को उम्‍मीद है कि कांग्रेस इस समय दबाव में है। कई विपक्षी दल जहां पहले ही इन बिलों पर सरकार को समर्थन देने के लिए राजी हो गए हैं, वहीं अब सरकार कांग्रेस से भी समर्थन की उम्‍मीद में है। खबरों के अनुसार आज विदेश मंत्री इन बिलों पर कांग्रेस के बड़े नेताओं के साथ चर्चा कर सकते हैं। इन बिलों को लेकर सरकार को सपा, बसपा, बीजेडी, जदयू, टीआरएस, अन्नाद्रमुक और राकांपा की ओर से सकारात्मक रुख मिल चुका है।

चूंकि जीएसटी संविधान संशोधन बिल है और इसे पारित कराने के लिए दो तिहाई सदस्यों का समर्थन अनिवार्य है। ऐसे में इन बिलों को कानूनी जामा पहनाने के लिए राज्यसभा में कांग्रेस का समर्थन हासिल करना सरकार के लिए अनिवार्य है। सरकार के रणनीतिकारों का कहना है कि जीएसटी पर टीएमसी ने भी अब तक अपना रुख साफ नहीं किया है, जबकि वाम दल सार्वजनिक तौर पर बिल के खिलाफ है।

loading...
शेयर करें