दुकानों और कोचिंग संस्थानों के लिए नई (Guideline) गाइडलाइन जारी

मध्यप्रदेश में दुकानों और कोचिंग संस्थानों के लिए धारा 144 के तहत नए आदेश जारी, छात्रों के लिए अल्टरनेट दिनों में क्लास चलेंगी

भोपाल: मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के भोपाल जिला कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट अविनाश लवानिया ने दुकानों और कोचिंग संस्थाओं के लिए धारा 144 के तहत जिले की राजस्व सीमाओं में संशोधित आदेश जारी किए हैं।

दुकानें बंद रखे जाने के निर्देश

आधिकारिक जानकारी के अनुसार लवानिया ने जिले में दुकानें और व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को रात्रि 10:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक बंद रखे जाने के निर्देश को निरस्त कर दिया है। जिले में अब दुकानें, व्यवसायिक संस्थान, रेस्टोरेंट्स और कार्यालय आदि श्रम विभाग द्वारा समय-समय पर जारी आदेशों निर्देशों के तहत पूर्ववत खोले जा सकेंगे।

जिला मजिस्ट्रेट अविनाश लवानिया

 

 

कोचिंग एवं ट्यूशन संस्थान Open

यहां जारी आदेश के अनुसार कुछ शर्तो के तहत कक्षा 9वीं से बारहवीं तक के लिए कोचिंग एवं ट्यूशन संस्थानों को खोलने की अनुमति दी गई है। कक्षा में बैठने की कुल क्षमता के अधिकतम 50 प्रतिशत की सीमा के साथ स्कूल अध्ययन समाधान के लिए खोले जा सकेंगे लेकिन रेगुलर क्लास नहीं होगी। सप्ताह में एक छात्र को अल्टरनेट दिनों (Alternate days) अधिकतम 3 दिन ही बुलाया जा सकेगा। कोचिंग में आने वाले प्रत्येक छात्र द्वारा संस्थान में आने से पहले निर्धारित प्रारूप में अभिभावकों की लिखित सहमति अनिवार्य होगी। कक्षा में बैठने के लिए दो व्यक्तियों के बीच में कम से कम 6 फीट की दूरी रखना होगा। संस्थान में किसी भी स्थिति में बैठक क्षमता के 50 प्रतिशत से अधिक छात्र उपस्थित नहीं हों सकेंगे।

सुरक्षा के इंतजाम

इसके अलावा संस्थान के मुख्य द्वार पर थर्मल स्क्रीनिंग, हैंड सैनिटाइज करवाने तथा मास्क पहने होने के बाद ही कक्षा में प्रवेश दिया जा सकेगा। कोचिंग संस्थान में यदि किसी छात्र या स्टाफ सदस्य की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो पॉजिटिव आए व्यक्ति की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही निर्धारित 7 दिन के क्वॉरेंटाइन अवधि के बाद ही उसे प्रवेश दिया जाएगा। संस्थानों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाकर अनिवार्य रूप से वीडियो रिकॉर्डिंग की जाएगी ताकि रिकॉर्डिंग मांगने पर उपलब्ध कराई जा सके। कोचिंग संस्थानों के छात्रावास पूर्णत: बंद रहेंगे। कोविड संबंध में जारी निर्देशों का उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

 

इसी तरह जिले के विभिन्न होटलों, रेस्टोरेंट्स, क्लब एवं अन्य जगह पर उपलब्ध क्षेत्र की क्षमता के अधिकतम 50 प्रतिशत के साथ ही व्यक्तियों को बिठाया जा सकेगा। इस प्रकार के किसी भी आयोजन में भोपाल से बाहर के किसी सेलिब्रिटी को नहीं बुलाया जाएगा। आयोजन स्थल स्वामी द्वारा कार्यक्रम की वीडियो, रिकॉर्डिंग करवाना अनिवार्य होगा । इन आयोजनों में कोविड-19 प्रोटोकॉल थर्मल स्क्रीनिंग, हैंड सैनिटाइजर, फेस मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग के पालन की जिम्मेदारी आयोजन स्थल स्वामी की होगी। यह आदेश तत्काल प्रभावशील होगा।

यह भी पढ़ेBCCI ने जारी की सबसे अधिक पैसे कमाने वाले क्रिकेटरों की लिस्ट, विराट और रोहित रह गए पीछे

यह भी पढ़ेNight party में जाने से पहले रखे ध्यान, चाल गड़बड़ाई तो कटेगा चालान

Related Articles