उन्नाव HIV+ मामला: सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा-जल्द ही दोषी गिरफ्तार किए जाएंगे

0

लखनऊ। यूपी के उन्नाव में एक झोलाछाप डॉक्टर ने 46 लोगों को मौत के दरवाजे पर लाकर खड़ा कर दिया है। डॉक्टर ने इन लोगों एक ही इंजेक्शन लगाया जिसकी वजह से ये लोग एचआईवी पॉजिटिव हो गए। इस मामले के सामने आने के बाद हडकंप मचा हुआ है। इस मामले को सरकार भी गंभीरता ले रही है। सरकार के प्रवक्ता और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि दोषी जल्द गिरफ्तार किए जाएंगे।

सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि उन्नाव में मेडिकल हेल्थ चेकअप कैंप में एचआईवी पॉजिटिव के मामले सामने आए। छान बीन कारने के बड़ा पता चाल कि एक शख्स ने इंजेक्शन दिया था। आरोपी की पहचान कर ली गई है, जल्द ही उसकी गिरफ्तारी हो जाएगी। सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि सभी पीड़ितों को कानपुर के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिकबता दें कि बांगरमऊ तहसील के कुछ गांवों में एक एनजीओ ने हेल्थ कैंप लगाया था। इसमें जांच के दौरान कुछ लोगों में एचआईवी के लक्षण मिले। तत्काल उन्हें जिला अस्पताल भेजा गया वहां इस भयानक संक्रमण की पुष्टि हुयी।

इन लोगों की काउंसलिंग कि गयी तब पता चला कि बांगरमऊ कस्बे में अपने को डाक्टर बताने वाला एक झोलाछाप साइकिल से आता था। मरीजों का उपचार करता था और चला जाता था। उसी ने एक ही सिरिंज का प्रयोग किया है जिसकी वजह से यह बीमारी सबको लगी है।

जिला कुष्ठ रोग अधिकारी को बचाने के लिए एक बांगरमऊ के डॉक्टर पर एफआईआर तो दर्ज करा दी गई है। फिलहाल जाँच के बाद ही मामला साफ़ हो पायेगा कि इन लोगों को ये बिमारी कैसे लगी। यहां कढाई की आड़ में औरतों मुबई और अरब जैसे देशों में भेजा जाता है। एड्स का कारण ये भी हो सकता है। पुलिस मामले की जाँच में जुट गयी है।

loading...
शेयर करें