गुजरात: अहमदाबाद में कोरोना के मामले बढ़े, आज से फिर लगा नाइट कर्फ्यू

कोरोना संक्रमण का मामला कम होने का नाम नहीं ले रहा है, वही गुजरात के अहमदाबाद में संक्रमण मिलने के मामले बढ़ते जा रहे है।

गुजरात: कोरोना संक्रमण का मामला कम होने का नाम नहीं ले रहा है, वही गुजरात के अहमदाबाद में संक्रमण मिलने के मामले बढ़ते जा रहे है। इसके रोकथाम के लिए गुजरात सरकार ने गुरुवार रात से ही अहमदाबाद में रात्रि कर्फ्यू लगा दी है। रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक ये कर्फ्यू लगेगा। रात्रि कर्फ्यू के दौरान सिर्फ आवश्यक चीजों की ही दुकानें खुले रहेंगी। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अहमदाबाद के लिए 20 अतिरिक्त एंबुलेंस, 300 डॉक्टर और 300 मेडिकल छात्रों को आवंटित किया है। वही केंद्र सरकार ने हाई लेवल टीमों को गुजरात के लिए रवाना कर दिया है।

रात्रि कर्फ्यू को लेकर अडिशनल चीफ सेक्रटरी डॉ. राजीव कुमार गुप्ता ने बताया कि, ‘कोरोना के बढ़ते हालात को ध्यान में रखते हुए देर रात यह तय किया गया है कि अहमदाबाद में शुक्रवार रात 9 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक कम्प्लीट कर्फ्यू रहेगा। इस दौरान सिर्फ दूध और दवा की दुकानों को खोलने की इजाजत है।’

 

ये भी पढ़े : उपचुनाव में निर्वाचित विधायकों ने ली विधानसभा में शपथ

राजीव कुमार गुप्ता ने बताया

राजीव कुमार गुप्ता ने बताया कुछ दिनों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे है, वही निजी अस्पतालों में संक्रमित मरीजों के बेड तेजी से भर रहे हैं और शहर के अस्पतालों में केवल 400 बेड ही खाली बचे हैं। उन्होंने बताया कि शहर में सरकारी अस्पतालों में करीब 2,600 बेड खाली हैं। राज्य सरकार ने कोरोना महामारी के बढ़ते आंकड़ों को देखते हुए स्पष्ट किया है कि गुजरात में स्कूल, कॉलेजों को 23 नवंबर से फिर से नहीं खोला जाएगा।

ये भी पढ़े : देर रात हजरतगंज व हुसैनगंज कोतवाली पहुंचे लखनऊ पुलिस कमिश्नर

गुजरात में कोरोना वायरस के 1,281 नए मामले

गुजरात में कोरोना वायरस के 1,281 नए मामले सामने आए, जिसके बाद राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,91,642 हो गई। राज्य में 1274 मरीज संक्रमण से इलाज से सही हुए है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। विभाग ने बताया कि बीमारी से आठ और व्यक्तियों की मौत होने के बाद राज्य में मृतकों की संख्या 3,823 हो गई। राज्य में अब तक जांच किए गए नमूनों की कुल संख्या बढ़कर 69,78,249 हो गई है।

 

Related Articles

Back to top button