Gujarat Day 2021: विजय रुपाणी ने दी गुजरातियों को शुभकामनाएं, जानें इतिहास की रोचक बातें

1 मई 1960 को गुजरात की स्थापना दिवस की गई थी। इस मौके पर मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने सभी गुजरातियों को गुजरात स्थापना दिवस की शुभकामनाएं दी है

अहमदाबाद: गुजरात दिवस (Gujarat Day) हर साल को 1 मई को मनाया जाता है। इसी दिन अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस और महाराष्ट्र दिवस भी मनाया जाता है। 1 मई 1960 को गुजरात की स्थापना दिवस की गई थी। इस मौके पर मुख्यमंत्री विजय रुपाणी (CM Vijay Rupani) ने सभी गुजरातियों को गुजरात स्थापना दिवस (Gujarat Foundation Day) की शुभकामनाएं दी है।

गरवी गुजरात

गुजरात दिवस पर गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने लोगों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि, गुजरात के सभी मेहनती नागरिकों को गुजरात दिवस मुबारक हो जिन्होंने महात्मा गांधी और सरदार के रूप में सभी मानव जाति को शांति और शक्ति का संदेश दिया। मुझे विश्वास है कि गुजरात के लोग देश की प्रगति में अपना योगदान देते रहेंगे। जय जय गरवी गुजरात

फसलों का उत्पादन

गुजरात कपास, तंबाकू और मूँगफली का उत्‍पादन करने वाला देश का प्रमुख राज्‍य है तथा यह कपड़ा, तेल और साबुन जैसे महत्‍वपूर्ण उद्योगों के लिए कच्‍चा माल उपलब्‍ध कराता है। यहां की अन्‍य महत्‍वपूर्ण नकदी फसलें हैं- इसबगोल, धान, गेहूं और बाजरा। गुजरात के वनों में उपलबध वृक्षों की जातियां हैं-सागवान, खैर, हलदरियो, सादाद और बांस।

सोलंकी गुर्जरो का शासनकाल

गुजरात का इतिहास पाषाण युग के बस्तियों के साथ शुरू हुआ, इसके बाद चोलकोथिक और कांस्य युग के बस्तियों जैसे- सिंधु घाटी सभ्यता। गुजरात का इतिहास ईसवी पूर्व लगभग 2,000 वर्ष पुराना है। ऐसा माना जाता है कि कृष्‍ण मथुरा छोड़कर सौराष्‍ट्र के पश्चिमी तट पर जा बसे, जो द्वारिका यानी प्रवेशद्वार कहलाया। बाद के वर्षो में मौर्य, गुप्त, गुर्जर प्रतिहार तथा अन्‍य अनेक राजवंशों ने इस प्रदेश पर राज किया। चालुक्य राजवंश अर्थात सोलंकी गुर्जरो का शासनकाल गुजरात में प्रगति और समृद्ध का युग था। महमूद गजनवी की लूटपाट के बावजूद चालुक्य राजवंशो ने यहां के लोगों की समृद्धि और भलाई का पूरा ध्‍यान रखा।

 

देसी रियासतें

स्वतन्त्रता से पहले गुजरात का वर्तमान क्षेत्र मुख्‍य रूप से दो भागों में विभक्त था- एक ब्रिटिश क्षेत्र और दूसरा देसी रियासतें। राज्‍यों के पुनर्गठन के कारण सौराष्‍ट्र के राज्‍यों और कच्‍छ के केन्द्र शासित प्रदेश के साथ पूर्व ब्रिटिश गुजरात को मिलाकर द्विभाषी बंबई राज्‍य का गठन हुआ। 1 मई 1960 को वर्तमान गुजरात राज्‍य अस्तित्‍व में आया। गुजरात भारत के पश्चिमी तट पर स्थित है। इसके पश्चिम में अरब सागर, उत्तर में पाकिस्‍तान तथा उत्तर-पूर्व में राजस्‍थान, दक्षिण-पूर्व में मध्‍यप्रदेश और दक्षिण में महाराष्‍ट्र है।

यह भी पढ़ेRJD के पूर्व सांसद Mohammad shahabuddin की कोरोना से मौत, तिहाड़ जेल के डीजी ने कर दी पुष्टि

Related Articles