गुजरात चुनाव : मुश्किल में बीजेपी, एक-एक करके सब छोड़ रहे साथ, दांव पर लगी मोदी की साख

0

नई दिल्ली। गुजरात में जैसे- जैसे विधानसभा चुनाव के दिन करीब आ रहे हैं वैसे- वैसे वहां की राजनीति किसी सस्पेंस फिल्म की तरह और दिलचस्प होती जा रही है। किसी को कुछ पता नहीं है कि कब क्या हो जाए। ऐसा ही हुआ आज देखने को मिला, पाटीदार अनामक आंदोलन समिति (PAAS) छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में आए निखिल सवानी ने 15 दिनों में भी पार्टी छोड़ दी है।

राहुल गांधी से मिलकर तय करेंगे कि क्या करना है

निखिल सवानी ने आज सुबह एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उन्होंने बीजेपी पर संगीन आरोप लगाए और पार्टी छोड़ने का ऐलान किया। सवानी ने कहा कि ‘मैंने बीजेपी द्वारा नरेंद्र पटेल को एक करोड़ रुपये के ऑफर की बात सुनी, मैं दुखी हूं। बीजेपी छोड़ रहा हूं।”

सवानी ने आगे कहा,‘मैं नरेंद्र पटेल को बधाई देता हूं। वह एक छोटे परिवार से आते हैं, फिर भी उन्‍होंने एक करोड़ रुपये लेना मंजूर नहीं किया।‘

सवानी ने कहा है कि फिलहाल वो किस पार्टी में शामिल होंगे इस बात का फैसला उन्होंने नहीं किया है। वो जल्द ही राहुल गांधी से मिलेंगे और फिर तय करेंगे कि उन्हें क्या करना है। बता दें, सवानी हार्दिक पटेल के करीबी हैं और सूरत में PAAS के संयोजक थे।

नरेंद्र पटेल को बीजेपी ने दिया 1 करोड़ का ऑफर

उधर बीजेपी में शामिल हुए पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक नरेंद्र पटेल ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि बीजेपी ने उन्हें खरीदने की कोशिश की है। उन्‍होंने रविवार देर रात बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि उनको हार्दिक पटेल का साथ छोड़कर बीजेपी के पाले में आने के लिए एक करोड़ रुपये का ऑफर दिया गया। साथ ही उन्होंने 10 लाख नोट की उन गड्डियों को भी दिखाया जो उन्हें एडवांस दिया गया था। उन्होंने कहा कि 1 करोड़ क्या रिजर्व बैंक भी मुझे खरीद नहीं सकता। बता दें, सवानी व पाटीदार समुदाय के 150 सदस्‍य सितंबर में भाजपा में शामिल हुए थे जो अब धीरे-धीरे पार्टी छोड़ रहे हैं।

गुजरात चुनाव की तारीख का ऐलान अभी नहीं हुआ है, हालांकि चुनाव 18 दिसंबर से पहले ही होंगे क्योंकि उस दिन गुजरात और हिमाचल प्रदेश के विधान सभा चुनाव के नतीजे आने की चुनाव आयोग पहले ही घोषणा कर चुका है।

 

loading...
शेयर करें