गुरुदासपुर: सनी देओल के PA रखने पर बवाल, ट्वीट कर दी सफाई

17वीं लोकसभा चुनाव में जीत कर पहली दफा सांसद बने बॉलीवुड एक्टर सनी देओल के बारे में खबर है कि उन्होंने एक स्क्रीन राइटर को गुरुदासपुर में अपना प्रतिनिधि नियुक्त किया है. सनी देओल के प्रतिनिधि नियुक्त किए जाने का मामला सुर्ख़ियों में है. स्पॉटबॉय की एक रिपोर्ट के मुताबिक स्क्रीन राइटर गुरप्रीत सिंह पल्हेरी, सनी देओल की लोकसभा सीट (गुरदासपुर, पंजाब) से जुड़े मामलों पर नजर रखेंगे और उनका प्रतिनिधित्व करेंगे. रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्होंने अपने लेटरहेड वाले एक ऑफिशियल नोट के जरिए इस बात की घोषणा की है.

बीजेपी के भीतरी सूत्रों के मिली जानकारी के आधार पर रिपोर्ट में लिखा गया है कि गुरप्रीत सनी के लोकसभा क्षेत्र का काम संभालेंगे और उनकी गैरमौजूदगी में उनका प्रतिनिधित्व करेंगे. बीजेपी (भारतीय जनता पार्टी) के एक सीनियर नेता ने कहा, “पल्हेरी को इस काम के लिए रखा जाना इस बात का सीधा इंडिकेशन है कि उन्हें चेयर मीटिंग्स और रिव्यू मीटिंग्स के लिए भी रखा गया है.” रिपोर्ट्स के मुताबिक सीनियर नेता ने कहा कि ये गलत है क्योंकि वह उन लोगों के लिए जिम्मेदार हैं जिन्होंने उन्हें वोट दिया है.

इस मामले को लेकर विपक्ष ने भी सनी देओल पर हमला किया है. विवाद को तूल पकड़ता देख एक्टर-सांसद सनी देओल ने एक ट्वीट कर सफाई पेश की है. सनी देओल ने विवाद के मद्देनजर लिखा, “यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है, ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है और उसमें भी इतना बड़ा विवाद खड़ा कर दिया गया है. मैंने अपना पीए (पर्सनल असिस्टेंट) नियुक्त किया है जो कि गुरदासपुस के मेरे ऑफिस में मेरा प्रतिनिधित्व करेगा. ये नियुक्ति इस बात को ध्यान में रखकर की गई है कि जब मैं गुरदासपुर से बाहर हूं, संसद में हूं या कहीं सफर कर रहा हूं तो भी काम लगातार, बिना रुके चलता रहे.”

सनी ने कहा, यह नियुक्ति सिर्फ इस बात को ध्यान में रखकर की गई है कि कोई भी काम रुके या लेट नहीं हो किसी भी वजह से. इसके अलावा मुझे हर चीज के बारे में पूरी जानकारी रहे. हमारे पास हमारी पूरी पार्टी है जो कि मेरे क्षेत्र के सभी मामलों में मेरा समर्थन करेगी और मेरी तरफ से भी वैसा ही होगा. एक सांसद के तौर पर नियुक्त किए जाने के नाते मैं निजी तौर पर गुरदासपुर के भले के लिए जिम्मेदार हूं. मैं इस बात की तसल्ली करूंगा कि मैं मेरे लोगों की हर संभव तरीके से सेवा करूं.”

बता दें कि 17वीं लोकसभा में बीजेपी उम्मीदवार के तौर पर सनी देओल ने कांग्रेस के हाथ से ये सीट बीजेपी के लिए हासिल की. गुरुदासपुर लोकसभा सीट बीजेपी की परम्परागत सीट है. यहां से विनोद खन्ना बीजेपी के सांसद हुआ करते थे. मगर उनके निधन के बाद उपचुनाव में बीजेपी ये सीट कांग्रेस के सामने हार गई थी.    

Related Articles