गोरखपुर में गुटखा कारोबारी के ठिकानों पर छापे, पांच करोड़ से ज्यादा की जीएसटी चोरी मिली

0

गोरखपुर: शहर में तमाम व्यापारी ऐसे हैं जो टैक्स नहीं देते हैं। उनके ऊपर किसी की निगाह भी नहीं पड़ती है। फिर भी कभार-कभार छापेमारी कर विभाग अपना कोरम पूरा कर लेता है। शहर के गुटखा कारोबारी श्रीलाल मंझानी के घर, दुकान और गोदाम पर सेंट्रल जीएसटी की आठ टीमों ने शुक्रवार सुबह नौ बजे एक साथ छापा मारा। यहां पांच करोड़ रुपये से ज्यादा की जीएसटी चोरी मिली है। कारोबारी ने एक करोड़ रुपये का टैक्स जमा कर दिया है। एक करोड़ रुपये जल्द देने की बात कही है।


जांच 10 घंटे से भी ज्यादा चली। ठिकाने से 45 लाख रुपये कैश भी जब्त किया गया है। श्रीलाल मंझानी कमला पसंद (गुटखा) की ट्रेडिंग करते हैं। शुक्रवार को सेंट्रल जीएसटी के वाराणसी के ज्वाइंट कमिश्नर आशुतोष के नेतृत्व में अफसरों की टीम गोरखपुर पहुंची। साहबगंज के खूनीपुर स्थित कारोबारी की छह दुकान, गोदाम, ट्रांसपोर्ट नगर स्थित बड़े गोदाम, जटाशंकर स्थित आवास के साथ ही फर्म में पार्टनर दिलीप व आनंद के हुमायूंपुर व घासीकटरा स्थित आवास की जांच की गई। इस दौरान डॉ. वीएन संदीप, अरविंद व इंस्पेक्टर सीएस आजाद मौजूद रहे।

करोड़ों का कारोबार, टैक्स मामूली अफसरों का कहना है कि गुटखा कारोबारी का टर्नओवर करोड़ों रुपये का है, लेकिन वह मामूली टैक्स जमा करते हैं। खुफिया टीम लगाकर निगरानी शुरू कराई गई तो पता चला कि एक ही ई-वे बिल से लगातार तीन-चार बार माल मंगाया जाता है। इसके बाद सर्च वारंट जारी कराकर पुलिस के साथ जांच की गई। बंद हो गई दुकानें सुबह-सुबह अफसरों की टीम खूनीपुर क्षेत्र में पहुंची थी। उस समय दुकानें खुल रही थीं। एक साथ कई टीम देखकर बड़ी कार्रवाई की आशंका में धड़ाधड़ दुकानें बंद होती गई। दोपहर बाद तक कई दुकानें बंद रहीं।

loading...
शेयर करें