ग्वालियर-चंबल अंचल अब उद्यानिकी हब (Horticulture hub) के रूप में दिखेगा

उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने कहा है कि ग्वालियर-चंबल अंचल को उद्यानिकी हब के रूप में विकसित किया जाएगा।

ग्वालियर: उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने कहा है कि ग्वालियर-चंबल अंचल (Gwalior-Chambal Zone) को उद्यानिकी हब के रूप में विकसित किया जाएगा। सरकार (Government) द्वारा उद्यानिकी फसलों के लिये अनुदान देने के साथ-साथ किसानों को अत्याधुनिक तकनीक व सुविधायें उपलब्ध कराई जाएगीं।

भारत सिंह कुशवाह (Bharat Singh Kushwaha) ने जिले के ग्राम मिलावली में कल आयोजित जन समस्या निवारण शिविर सह विकास कार्यों के भूमिपूजन कार्यक्रम में कहा कि केवल रबी और खरीफ की पारंपरिक फसलों से किसानों की आय दोगुनी नहीं हो सकती। इसके लिये उद्यानिकी जैसी नगदी फसलों को अपनाना जरूरी है। किसान भाई उद्यानिकी फसलों को अपनाने के लिए आगे आएँ।

किसान जरूर सहभागिता करें

उन्होंने कहा कि उद्यानिकी विभाग द्वारा हर विकासखण्ड में उद्यानिकी फसलों के संबंध में विषय विशेषज्ञों के जरिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कराए जा रहे हैं। सभी किसान इसमें जरूर सहभागिता करें। उन्होंने कार्यक्रम में किसानों से कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा बनाए गए नए कृषि कानून किसानों के जीवन में सुखद बदलाव आएंगे। इसलिये किसी के बहकावे में न आएँ।
कुशवाह ने इस अवसर पर लगभग एक करोड़ 4 लाख रूपए लागत के विकास कार्यों का भूमिपूजन किया। इन विकास कार्यों में ग्राम मिलावली में बनने जा रही लगभग 90 लाख रूपए लागत की नल-जल योजना एवं एबी रोड़ मिलावली से जिगसौली की पुलिया तक 7 लाख 64 हजार रूपए लागत की ग्रेवल रोड़ शामिल है। मिलावली में आयोजित हुए जन समस्या निवारण शिविर में लगभग दो दर्जन किसानों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण किया गया।

यह भी पढ़े: प्रदेश में ‘बेटी बचाओ अभियान’ नए सिरे से चलाया जाएगा: शिवराज

Related Articles