ज्ञान वर्मन लिवर यूनिट ने कराए अब तक 1600 लीवर ट्रांसप्लांट

नई दिल्ली: देश में लीवर ट्रांसप्लांट में अहम भूमिका निभाने वाले ज्ञान वर्मन लिवर यूनिट संस्थान ने अपनी स्थापना के 15 वर्ष पूरे होने पर अपने अब तक के कार्यो की तीसरी रिपोर्ट जारी की, जिसमें बताया गया है कि संस्थान ने देश में अब तक 1600 से ज्यादा लीवर ट्रांसप्लांट कराए हैं।

लीवर ट्रांसप्लांट

रिपोर्ट का विमोचन जाने-माने पत्रकार व पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी ने शनिवार रात किया। उन्होंने कहा कि ज्ञान वर्मन लिवर यूनिट द्वारा किया जा रहा काम वास्तविक में कर्मा को परिभाषित करता है। संस्थान की पहल न सिर्फ सराहनीय है, बल्कि वह देश के चिकित्सा के क्षेत्र में मजबूत भविष्य की नींव रख रहा है।

विज्ञप्ति के अनुसार, संस्थान ने 115 चिकित्सकों को लिवर से जुड़ी समस्याओं पर सफल प्रशिक्षण भी दिलाया है। वर्ष 2003 से लिवर से जुड़ी बीमारियों के निदान के लिए शुरू की गई यह मुहिम अब बहुत ही बड़ी हो गई है। वर्तमान में ज्ञान वर्मन लीवर यूनिट के अंतर्गत देश के लगभग 73 लिवर ट्रांसप्लांट सेंटर चल रहे हैं, जिनमें लोगों की हर संभव सहायता की जाती है।

स्थापना के 15 साले पूरे होने पर यूनिट के संथापक प्रदीप वर्मन ने कहा, “हमें ज्ञान वर्मन लिवर यूनिट के 15 साल पूरे करने पर खुशी है। इस यात्रा के दौरान हमने लीवर के मरीजों के उत्थान के लिए अपना अधिक से अधिक देने का प्रयास किया है।

इसके साथ ही हमने न सिर्फ अपने देश, बल्कि विदेशों के डॉक्टरों जिसमें केन्या, बांग्लादेश, नेपाल, सऊदी अरब, अमेरिका, नाइजीरिया, वेस्ट इंडीज, म्यांमार, फिजी, सिंगापुर, पकिस्तान के चिकित्सकों को प्रशिक्षित भी किया है। हमारा लक्ष्य है लिवर की समस्याओं से जुड़े लोगों को उच्च स्तरीय निदान मुहैया करा सके।”

Related Articles