बरसात में बालों का रखे खास ध्यान वरना….

नई दिल्ली। बरसात यानि मानसून अकसर लड़कियों कि पहली पसंद होती है, जहाँ इस मौसम में चिलचिलाती धूप और गर्मी से राहत मिलती है तो वहीं यह मौसम बालों के स्वास्थ और देखभाल के लिए अच्छा नहीं माना जाता।

इस मौसम में एक तरफ बालों के गीला होने की दिक्कत रहती है  वहीं विभिन्न तरह के इन्फेक्शन और समस्याओं का भी डर बना रहता है, बालों का गिरना, खुजली, डैंड्रफ जैसी समस्याएं। इस मौसम में बेहद आम हो जाती हैं  वहीं अगर सावधानी ना बरती जाए और बालों का ध्यान ना रखा जाए, तो भयंकर रूप भी ले सकती हैं।खूबसूरत दिखना हर किसी की पहली चाहत होती है।

शैम्पू के बाद कंडीशनर कभी भी सीधे स्काल्प  पर ना लगाएं और केवल बालों और सिरों पर ही इसका इस्तेमाल करें। आप घर पर भी अच्छा कंडीशनर बना सकती हैं, हेयर वाश के आखिर में एक मग पानी में कुछ बूंदे एप्पल सीडार वेनेगर डालेँ, यह एक  उम्दा कंडीशनर का काम कर बालों को सुन्दर और सुलझा रखेगा और आपको बाद हेयर डे से भी बचाएगा।

बाल धोने से पहले आप एक घंटा नारियल की क्रषड मलाई बालों में अप्लाई कर सकते हैं। ये पैक ना केवल आपकी स्काल्प को ठंडा रखेगा बल्कि उन्हें सॉफ्ट और स्मूद भी करेगा, यही नहीं यह पैक बालों की ग्रोथ में भी कारगर होगा।बालों में शैम्पू करने से एक घंटा पहले आप नारियल या जैतून के तेल से मैसेज कर सकते हैं और यदि आपको डैंड्रफ की समस्या है तो आप तेल में नींबू की कुछ बूंदे दाल सकते हैं।

बरसात के मौसम में बालो में नमी पहुँचाने के लिए रात में नारियल के तेल से मसाज करे या तेल को हल्के हाथों से बालो में लगाएं, इस प्रयोग से बालो को  भरपूर नमी मिलती हैं और बालो  में चमक भी आती हैं।

बाल हमारे सौंदर्य का प्रतीक हैं, इसलिए बरसात या फिर हर  मौसम में बालो का अच्छे से ख्याल रखें। अपने बालो में चमक और सौंदर्यता बनाये रखने के लिए बताये गये सुझावों को प्रयोग में ला सकते हैं।

इस मौसम में नमी के कारण पसीना ज्‍यादा बहता है जिस वजह स्काल्प तैलीय हो जाती है और बाल चिपचिपे हो जाते हैं। इस वजह से सिर की त्‍वचा पर जीवाणु और फंगस भी अपना घर बना लेते हैं, इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप एंटी फंगल शैम्पू का प्रयोग करें।

आप नीम का तेल और या फिर नीम की पत्तियों कृष कर के नीम पेस्ट भी बालों में लगा सकते हैं, नीम की एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज आपके बालों और सर की त्वचा के फंगस या इन्फेक्शन का अचूक उपचार है।

Related Articles