मुंबई का हामिद पाकिस्तान से तीन साल बाद हुआ रिहा, परिवार हुआ खुश

नई दिल्ली। पाकिस्तान की जेल में करीब तीन साल बिता चुके मुंबई के एक शख्स को रिहा कर दिया गया है और वह मंगलवार को अपने घर लौटेगा। पाकिस्तान-इंडिया पीपुल्स फोरम फॉर पीस अंड डेमोक्रेसी (पीआईपीएफपीडी) के महासचिव जतिन देसाई ने मीडिया को बताया कि हां, यह एक बहुत अच्छी खबर है। हामिद नेहाल अंसारी को जेल से रिहा कर दिया गया है और आज उसे वाघा बार्डर पर भारत के हवाले कर दिया जाएगा।

मुंबई भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक्टिविस्ट व पूर्व विधायक कृष्णा हेगड़े, जिन्होंने पिछले कुछ सालों से अंसारी के परिवार की सहायता की है, उन्होंने कहा कि वे औपचारिकताएं पूरी करने और उसकी वापसी सुनिश्चित करने के लिए नई दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग गए थे।पाकिस्तान ने पेशे से इंजीनियर अंसारी पर भारतीय जासूस होने और देश में अवैध तरीके से प्रवेश करने सहित फर्जी दस्तावेजों के इस्तेमाल और देश विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने का आरोप लगाया था।

नवंबर 2012 से जब अंसारी रोजगार के सिलसिले में देश छोड़ काबुल के लिए रवाना हुए और फिर उनके लापता होने की खबर आई, उनके परिवार के लिए यह कठिन परीक्षा का समय रहा। 12 नवंबर 2012 को अंसारी ने पाकिस्तान के पेशावर जाने के लिए जलालाबाद में अफगानिस्तान सीमा पार की, जहां पाकिस्तानी खुफिया अधिकारियों ने उन्हें पकड़ लिया। बाद में, एक सैन्य अदालत ने उन्हें तीन साल के लिए जेल भेज दिया।

Related Articles