कर्ज के लिए नहीं फैलाने पड़ेंगे हाथ, मोदी सरकार ने उठाया ये कदम, लगेगा कर्ज वृद्धि मेला

मुंबई: कोरोना काल के बाद लोगो को हुए नुकसान के बाद मोदी सरकार अब मदद करने के लिए बड़ी योजना तैयार कर ली है। इस संर्दभ में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (FM Nirmala Sitharaman) ने कहा है कि केंद्र सरकार ने कर्ज वृद्धि के लिए कई ठोस कदम उठाए हैं। कही न कही देश मे कर्ज की मांग (Loan Demand) कम नहीं है।

केंद्रीय वित्त मंत्री ने बताया कि अक्टूबर 2021 से कर्ज वृद्धि में मदद के लिए देश के हर जिले में बैंक अब विशेष अभियान चलाएंगे। कोरोना महामारी के समय मे सरकार की तरफ से घोषित प्रोत्साहन पैकेजों से भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) को मिली रफ्तार को इन कोशिशों से मदद मिलेगी।

बैंकों ने इतने करोड़ बांटे कर्ज

आपको बता दें साल 2019 में बैंकों ने कर्ज वृद्धि के लिए देश के 400 जिलों में कर्ज मेले लगाए थे। वित्‍त मंत्री ने कहा कि संकेतों का इंतजार किए बिना भी हमने कर्ज वृद्धि के लिए कदम उठाए हैं। अक्टूबर 2019 से मार्च 2021 के बीच बैंकों की तरफ से 4.94 लाख करोड़ रुपये से ज्‍यादा का कर्ज बांटा गया है। वहीं, अब अक्टूबर 2021 में भी देश के हर जिले में कर्ज देने के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा।

सरकार ने की घोषणा

सरकार ने घोषणा की है कि एनबीएफसी-एमएफआई के जरिये जरूरतमंदों को 1.5 लाख रुपये तक का कर्ज दिया जाएगा। देश के पूर्वी हिस्सों में झारखंड, पश्चिम बंगाल और ओडिशा जैसे राज्यों में कर्ज वृद्धि में तेजी लाने की जरूरत है। इन जगहों में लोग चालू और बचत खातों (CASA) में प्रमुखता से पैसा जमा कर रहे हैं।

Related Articles