हनुमान जयंती आज, पूरी होगी हर मनोकामना, इस तरह करें बजरंग बली की पूजा

नई दिल्ली। आज देशभर में हनुमान जयंती का अवसर पूरे धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस बार यह अवसर शनिवार को ही आया है, जोकि बड़ा ही शुभ माना जाता है। चूंकि शनिवार को बजरंग बली का दिन माना जाता है, इसलिए इसे दुर्लभ संयोग कहा जा रहा है। आज विशेष पूजन व महावीर को भोग लगाने से आप अपनी मनचाही मनोकामना की पूर्ति कर सकते हैं। बल, बुद्वि व विद्दा के दाता बजरंग बली की उपासना करने से मन से हर तरह का डर निकल जाता है। निस्वार्थ भक्ति व अतुलित बल का प्रतीक हनुमान जी को सिंदूर बेहद पसंद आता है। इस दिन इन पर सिंदूर चढ़ाने से आपको इच्छित फल की प्राप्ति हो सकती है।

त्रेता युग में भगवान रावम को मारने में भगवान राम का किया था सहयोग
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार त्रेता युग में मर्यादा पुरुषोत्तम राम चंद्र जी द्वारा अधर्मी रावण का वध करने में हनुमान ने उन्हें सहायता प्रदान की थी। हनुमान को रामभक्त भी कहा जाता है। अपनी वानर सेना के साथ इन्होंने भगवान राम को सहयोग करते हुए लंका पर चढ़ाई कर दी थी। कई दिनों तक चले भीषण युद्व के बाद अंत में सत्य की विजय हुई और प्रभु राम ने सीता माता को रावण के चंगुल से आजाद करा लिया।

हनुमान जी की जयंती को लेकर विद्वानों में मतभेद हैं। हनुमान के कुछ भक्त उनकी जयंती प्रथम चैत्र पक्ष पूर्णिमा को मनाते हैं तो कुछ कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को हनुमान जन्मोत्सव मनाते हैं। मान्यता के अनुसार हनुमान जी हिन्दुओं के एकमात्र ऐसे देवता हैं जो सशरीर आज भी विद्यमान हैं और कलयुग के अंत में ही हनुमान जी अपना शरीर छोड़ेंगे।

ज्योतिषिय गणना के अनुसार वानरराज केसरी और माता अंजनी के पुत्र हनुमान का जन्म 1 करोड़ 85 लाख 58 हजार 112 वर्ष पहले चैत्र पूर्णिमा को मंगलवार के दिन चित्रा नक्षत्र व मेष लग्न के योग में सुबह 6.03 बजे हुआ।

Related Articles