हार्दिक पटेल ने कहा- नीतीश चाचा ने मुझे नहीं बुलाया, डरते हैं..दिल्ली से डांट पड़ेगी

0

पटना। पटेल नवनिर्माण सेना (पनसे) के अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने यहां शनिवार को कहा कि कुर्मी, कुशवाहा और धानुक जाति के लोग एक हो जाएं तो किसी की नहीं चलेगी। उन्होंने खुद का नाम भी बदलते हुए कहा कि ‘मेरा नाम कुर्मी धानुक हार्दिक पटेल’ है। गुजरात से आए हार्दिक ने पटना में पटेल जागरूकता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा, इस बार नीतीश चाचा ने मुझे इसलिए नहीं बुलाया कि दिल्ली वाले नाराज हो जाएंगे। मैं कहूंगा कि चाचा हमसे क्यों डर गए? हम नालंदा से चुनाव नहीं लड़ने वाले हैं।

हार्दिक पटेल

हार्दिक ने आरोप लगाया कि इस सम्मेलन में लोगों को आने से रोकने की प्रशासन की तरफ से काफी कोशिश की गई। जगह-जगह नाकाबंदी की गई, फिर भी बड़ी संख्या में लोग सम्मेलन में पहुंचे।

कुर्मी, कुशवाहा और धानुक जातियों को एकजुट होने की अपील करते हुए उन्होंने कहा, “अगर हम एक हो जाएं, तो हमारे आगे किसी की नहीं चलेगी। एकजुट होने पर भी हमारा हक मिल सकेगा।”

उन्होंने कहा कि अगले दो साल के अंदर गांधी मैदान में 10 लाख कुर्मियों को इकठ्ठा करना है।

हार्दिक ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग का जिक्र करते हुए कहा, विशेष राज्य के दर्जा के लिए अगर नीतीश डटकर खड़े हुए तो हम भी बिहार की 12 करोड़ जनता के साथ उनकी मदद के लिए आएंगे, लेकिन अगर इसके बहाने वे सिर्फ अपना चेहरा चमकाएंगे तो कोई भी उनके साथ नहीं रहेगा।

उन्होंने कहा कि बिहार पिछड़ा राज्य है। अब बारिश के दिनों में अधिकांश हिस्से बाढ़ से त्रस्त हो जाएंगे।

हार्दिक ने स्वामीनाथ आयोग की सिफारिश लागू न करने को लेकर केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा।

loading...
शेयर करें