Haridwar Mahakumbh 2021: कुंभ में कोरोना गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य, सरकार ने दी बड़ी जानकारी

उत्तराखंड मुख्यमंत्री कार्यालय ने दी जानकारी, कुंभ में कोरोना की गाइडलाइन का पालन करना जरूरी होगा

देहरादून: आस्था का सबसे बड़ा कुंभ मेला (Kumbh Mela) इस बार उत्तराखंड की देव भूमि हरिद्वार में आयोजित हो रहा है। कुंभ मेला की शुरूआत 1 अप्रैल से होगी और समापन 30 अप्रैल को होगा। जिसके लिए कुंभ में कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए सरकार ने सभी यात्रियों के लिए कोविड-19 (COVID-19) की निगेटिव रिपोर्ट और सर्टिफिकेट को मुख्य रूप से अनिवार्य किया है।

कोरोना गाइडलाइन

उत्तराखंड (Uttarakhand) मुख्यमंत्री कार्यालय कुंभ (Kumbh) में कोरोना की गाइडलाइन (Corona Guideline) का पालन करना जरूरी होगा। हाई रिस्क वाले शहरों से आने वाले श्रद्धालुओं को बिना चैकिंग के नहीं जाने दिया जाएगा।

30 दिन चलेगा मेला

उत्तराखंड (Uttarakhand) के मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने बताया था कि कुंभ मेला (Kumbh Mela) इस साल 1 से 30 अप्रैल तक आयोजित किया जाएगा। कोरोना महामारी के मद्देनजर मेला​ सिर्फ 30 दिन चलेगा। गृह मंत्रालय ने 65 साल से अधिक उम्र के लोगों और गर्भवती महिलाओं एंव 10 साल के कम उम्र के बच्चों को कुंभ मेले में न आने की सलाह दी है।

कुंभ में शाही स्नान

देव भूमि हरिद्वार में श्रद्धालु हर साल कुंभ के मेले में आस्था कि डूबकी लगाते है। इस साल कुंभ का पावन मेले का शुभारंभ 1 अप्रैल से हो रहा है। कुंभ में साधु-संतो के चार शाही स्नान होते हैं। इस मेले में दुनियाभर के लोग गंगा में स्नान करने के लिए आते है। यह मेला 48 दिनों तक चलता रहता है। इस मेले में कई धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन कराया जाता है।

 

कुंभ की थीम पर सजे स्टेशन

Kumbh Mela Haridwar 2021: महाकुंभ 2021 के लिए तैयार हरिद्वार, जानें कब  होंगे चार शाही स्नान - News AajTak

हरिद्वार स्टेशन पर यात्रियों को अच्छा अनुभव देने और धार्मिक वातावरण बनाने के लिए स्टेशन को कुंभ की थीम पर सजाया गया है। मुरादाबाद के DRM ने बताया था कि, ‘कुंभ क्षेत्र में जितने भी स्टेशन आते हैं, उन सब में भीड़ प्रबंधन, सौंदर्यीकरण, यात्रियों की सुविधा के लिए काम किए गए हैं’।

यह भी पढ़ेछात्राओं को मिलेगी स्कूटी (Scooty) और साइकिल, love Jihad के खिलाफ बनेगा कानून

Related Articles