हरियाणा सरकार खरीदेगी किसानों से पराली, बनाएगी इंधन के लिये ब्रिकेट्स

डॉ0 लाल ने आज महम सहकारी चीनी मिल के पिराई सत्र की शुरूआत करने के उपरांत उपस्थित किसानों तथा मिल कर्मियों को सम्बोधित करते हुये यह जानकारी दी।

रोहतक: हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ0 बनवारी लाल ने कहा है कि राज्य सरकार ने किसानों से 120 रूपये प्रति क्विंटल की दर से पराली खरीदेगी जिससे इंधन के लिये ब्रीकेट्स बनाए जाएंगे। इस फैसले से किसानों को जहां आर्थिक लाभ होगा वहीं पराली के जलाने से होने वाले प्रदूषण पर अंकुश लगेगा।

चीनी मिल सत्र की शुरूआत करने के उपरांत डॉ0 लाल सम्बोधित किया

डॉ0 लाल ने आज महम सहकारी चीनी मिल के पिराई सत्र की शुरूआत करने के उपरांत उपस्थित किसानों तथा मिल कर्मियों को सम्बोधित करते हुये यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि चीनी मिलों को घाटे से उबारने के लिए चीनी के साथ अन्य वस्तुओं का भी मिलों में उत्पादन किया जाएगा। कैथल चीनी मिल में बायोफ्यूल ब्रिकेट प्लांट संयंत्र लगाया गया है। इस प्लांट में बगास गिट्टी को एक आधुनिक इंधन के रूप में प्रयोग किया जाता है और यह कोयले का एक बेहतर विकल्प है। उन्होंने कहा कि यह प्रयोग दूसरे चीनी मिलों में भी किया जाएगा।

गुड़ और शक्कर का उत्पादन 15-20 दिनों में आरम्भ

उन्होंने कहा कि चीनी मिलों की आमदनी बढ़ाने के लिए शाहाबाद चीनी मिल में एथलॉन बनाने का संयंत्र मार्च माह में उत्पादन शुरू करेगा। इसी प्रकार से महम, कैथल और पलवल चीनी मिलों में आर्गेनिक गुड़ और शक्कर का उत्पादन 15-20 दिनों में आरम्भ होगा।उन्होने कहा कि रोहतक चीनी मिल में रिफाईंड चीनी बनाने का कार्य शुरू किया गया है जो पांच और एक किलो की पैकिंग में बनाई जाएगी। उन्होंने किसानों को आश्वस्त किया कि सरकार किसानों को किसी भी तरह की दिक्कत नहीं आने देगी।

अटल किसान कैंटीन का शुभारंभ किया जायेगा

उन्होंने घोषणा की कि अगले 15 दिनों में महम चीनी मिल में अटल किसान कैंटीन का शुभारंभ कर दिया जाएगा। इस कैंटीन में 10 रूपए के हिसाब से किसानों को मिल में खाना मिलेगा जबकि ऐसे खाने पर लगभग 25 रूपए खर्च आता है। पंद्रह रूपये सरकार वहन करेगी। उन्होंने चीनी मिलाें की रिकवरी साढ़े 10 प्रतिशत तक लाने के निर्देश दिये। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश की किसी भी चीनी मिल में किसानों की बकाया राशि नहीं है। उन्होंने कहा कि पारदर्शिता लाने के लिए चीनी मिलों में पूरी व्यवस्था ऑनलाइन की गई है तथा भुगतान भी ऑनलाइन तरीके से किया जा रहा है।

यह भी पढ़े: अबोध बालिका के साथ दुष्कर्म करने के मामले में आरोपी को मिली फांसी

Related Articles

Back to top button