हरियाणा सरकार में पेड़ पौधों को लगाकर संरक्षण करने पर मिलेंगे रुपये

नई दिल्ली: हरियाणा सरकार ने शुरू की एक नई मुहिम, जिसमे पेड़ पौधों का संरक्षण विद्यमान है।पूरी दुनिया में प्रदूषण की समस्या बढ़ रही है। लोग अब जागरुक भी हो रहे हैं और पर्यावरण को बचाने के लिए नए-ऩए तरीके आजमा रहे हैं। इसी तरह का एक तरीका हरियाणा सरकार ने अपनाया है। सरकार ने घोषणा की है कि बच्चे पहले पेड़ लगाएं। हर छह महीने के बाद उसके साथ फोटो खींचकर सेल्फी सरकार के पास भेजें।

हरियाणा सरकार के इस कार्य से बच्चों में पैदा होगा पेड़ पौधों के प्रति स्नेह

हर फोटो के मिलने के बाद सरकार उनके खाते में 50-50 रुपये भेजेगी। यह योजना पूरे तीन साल चलेगी और इस तरह फोटो भेजते रहने वाले हर बच्चे के खाते में सरकार पूरे 600 रुपये डालेगी। यह योजना छठवीं से बारहवीं कक्षा तक के बच्चों के लिए शुरु करने की बात कही गई है।
सांसद रमादेवी पर अभद्र टिप्पणी के कारण आजम खां ने लोकसभा में मांगी माफ़ी
फरीदाबाद में रविवार को आयोजित एक कार्यक्रम में हरियाणा के मुख्यमंत्री ने इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि पौधों से बच्चों की तरह प्यार करें और माता पिता उनकी तरह सेवा करें। कुछ समय के बाद यही पौधे पेड़ बनकर पूरे समाज की पूरे जीवन भर सेवा करेंगे।

उन्होंने कहा कि बच्चे अपने द्वारा रोपे गए पौधे की जियो टैगिंग करें, उनका संरक्षण करें और हर छः महीने के बाद उसकी फोटो भेजते रहें। उन्होंने कहा कि इस तरह इन बच्चों में पर्यावरण के प्रति जागरुकता भी पैदा होगी। और हरियाणा का वनक्षेत्र भी बढ़ेगा।

हरियाणा में इस समय मात्र 3.5 प्रतिशत वन क्षेत्र है, जबकि कई प्रदेशों में यह 25 से 30 प्रतिशत तक है। विशेषज्ञों के मुताबिक यह किसी भी भौगौलिक क्षेत्र में लगभग एक तिहाई वन क्षेत्र होना चाहिए। इस लिहाज से हरियाणा सहित अनेक राज्य इस कसौटी पर बहुत पीछे हैं।

हालांकि, हरियाणा के पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल के नेतृत्व में राज्य में वन क्षेत्र बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके पहले वे ड्रोन के माध्यम से अरावली क्षेत्र में पेड़ों के बीजों का छिड़काव कर चर्चा में आ चुके हैं।

Related Articles