हाथरस: आरोपियों ने SP को पत्र लिख लगाई न्याय की गुहार, खुद को बताया निर्दोष

हाथरस: आरोपियों ने SP को पत्र लिख लगाई न्याय की गुहार, खुद को बताया निर्दोष

हाथरस: हाथरस में मृत युवती के मामले में अभी SIT जांच कर थी और सरकार ने CBI को जाँच करने की संस्तुति की थी। लेकिन इस बीच आरोपियों की तरफ से हाथरस के पुलिस कप्तान को पत्र लिखकर चौकाने वाली जानकारी दी गई है। ये पत्र चारों आरोपियों की तरफ से जेल में लिखा गया है जिसे एसपी को जेल प्रशासन ने भेज दिया है। जेल में बंद हाथरस गैंग रेप के चारों आरोपियों ने हाथरस SP को पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगायी है, खुद को बेक़सूर भी बताया है। यही नहीं उन्होंने पत्र में पीड़िता के भाई पर पीड़िता को पीटने का आरोप भी लगाया है।

आरोपियों ने पत्र में पीड़िता को उसके भाई द्वारा पीटे जाने का कारण स्पष्ट किया है। आरोपियों ने पत्र में लिखा है कि उनकी बात पीड़ित युवती से होती थी। जिसक कारण उसके भाई ने उसे बुरी तरह पीटा। साथ ही बूलगढ़ी गांव में मृत दलित युवती को लेकर आरोपियोँ ने खुद को बेकसूर बताया। आरोपियों ने बुधवार रात हाथरस पुलिस कप्तान को ये पत्र लिखा है।

पूरा घटनाक्रम सिलसिलेवार तरीके से बताया

आरोपियों ने पत्र में खुद को झूठे मामले में फसाये जाने की बात लिखी है। पत्र के माध्यम से चारों ने अपने ऊपर लगाए गए आरोप को ख़ारिज किया है। मुख्या आरोपी संदीप ने पत्र में पूरा घटनाक्रम सिलसिलेवार तरीके से बताया है। उसने लिखा है कि उसकी युवती से पहले से जान पहचान थी और वो दोनों फ़ोन पर बात चीत करते थे। संदीप ने पत्र में बताया कि इस मामले में रवि और रामू आरोपी बनाए गए है जो उसके परिवार से ताल्लुक रखते हैं और उसके चाचा हैं।

ये भी पढ़ें : विवाहिता से रेप और बनाया वीडियो, कई महीनों से कर रहा था ब्लैकमेल, FIR दर्ज

संदीप ने आगे लिखा है कि मृत युवती से उसकी दोस्ती थी जिसको लेकर परिवार को ऐतराज़ था। इसी वजह से उस दिन मां और भाई ने लड़की की पिटाई की थी। घटना वाले दिन वो युवती से मिलने वो खेत में तो गया था पर मृत युवती की मां और भाई के कहने पर लौट आया था। वापस आकर अपने पिता के साथ जानवरों को पानी पीला रहा था।

आरोपियों ने चिट्ठी में लिखा है कि उनकी मृत युवती से दोस्ती थी। जिससे इनकी फोन के जरिये बात होती थी। इसी वजह से उस दिन मां और भाई ने युवती की पिटाई की थी। लेकिन उल्टा उन्हेंं ही फंसा दिया गया। चारों आरोपियों ने इस मामले में पुलिस से निष्पक्ष जांच की मांग की है।

Related Articles