क्या अंतरिक्ष में सेक्स ! आइये जानते है कैसे ……

नई दिल्ली: जर्मन अंतरिक्ष यात्री मथियास माउरर जब पत्रकारों के प्रश्नो का जवाब देते है, और अचानक से एक सवाल पे वो रुक जाते है सवाल था अंतरिक्ष में सेक्स कैसे? DW द्वारा उनसे सवाल किया गया था कि क्या अंतरिक्ष यात्रियों की सेक्स की चाहत को लेकर भी आपस में कोई बात हुई है या नहीं। जवाब में मथियास कहते हैं, “इस बारे में हमारी कोई बात नहीं हुई, क्योंकि वो एक प्रोफेश्नल माहौल होता है।”

सेक्स की बात पर परहेज़ क्यों ?

लेकिन कमर्शियल उड़ानों की बदौलत ज्यादा से ज्यादा लोग अंतरिक्ष की सैर को जाने लगे हैं। अंतरिक्ष विज्ञान में तरक्की के साथ-साथ अंतरिक्ष में सेक्स को लेकर हमारी समझ अभी कच्ची ही है।

क्या हुआ है? अंतरिक्ष में सेक्स

आईये नज़र डालते है उन दो घटना पर, अंतरिक्ष की यात्रा करने वाली दुनिया की दूसरी महिला, रूसी अंतरिक्षयात्री स्वेतलाना सावित्सकाया, 1982 में आठ दिनों के लिए सोयूज टी-7 अंतरिक्ष अभियान में शामिल हुई थीं। उनके दो पुरुष सहकर्मी वहां पहले से थे और ये स्त्री-पुरुष का पहला साझा स्पेस मिशन भी था। जर्मन अंतरिक्षयात्री उलरिश वॉल्टर ने अपनी किताब ह्योलेनरिट डुर्च राउम उंड त्साइट (दिक-काल का एक भीषण सफर) में उस टीम के डॉक्टर गियोर्गेइविच गाजेन्को के हवाले से दर्ज किया है कि यौन संसर्ग को ही ध्यान में रखकर उस उड़ान की योजना बनाई गई थी।

चर्चा में रहा दूसरा अभियान 1992 का था जब नासा का अंतरिक्ष यान इंडेवर, एक शादीशुदा जोड़े के साथ रवाना किया गया था। मार्क ली और जेन डेविस दोनों अंतरिक्ष यात्री थे और नासा में मिले थे। उड़ान से एक साल पहले उन्होंने गुप-चुप विवाह कर लिया था। अंतरिक्ष की उनकी साझा उड़ान एक लिहाज से उनका हनीमून था।

यह भी पढ़ें: चीन ने सभी क्रिप्टोक्यूरेंसी लेनदेन को ठहराया अवैध

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)..

Related Articles