Rahul Gandhi के खिलाफ नोटिस जारी करने से HC ने किया इनकार

Twitter ने आज इस बात की सूचना दिल्ली हाईकोर्ट को दी, हाईकोर्ट इस मामले पर अगली सुनवाई 27 सितंबर को करेंगी।

नई दिल्ली: दिल्ली के पुराना नांगल की नौ वर्षीय रेप पीड़िता दलित बच्ची की पहचान उजागर करने वाले कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के ट्वीट को हटा दिया गया है। Twitter ने आज इस बात की सूचना दिल्ली हाईकोर्ट को दी, हाईकोर्ट इस मामले पर अगली सुनवाई 27 सितंबर को करेंगी।

आज सुनवाई के दौरान Twitter की ओर से पेश वकील सज्जन पोवैया ने चीफ जस्टिस डीएन पटेल की अध्यक्षता वाली बेंच से कहा कि Twitter ने रेप पीड़िता बच्ची के माता-पिता की पहचान उजागर करने वाले Rahul Gandhi के ट्वीट को हटा दिया है। इसके बाद याचिकाकर्ता के वकील गौतम झा ने कहा कि ट्विटर को राहुल गांधी के खिलाफ FIR दर्ज करनी चाहिए। क्योंकि वो ट्वीट कानून का उल्लंघन करने वाला था। तब कोर्ट ने कहा कि अगर ऐसा है तो आप दस्तावेज ले आइए, हम नोटिस जारी नहीं कर रहे हैं।

याचिका मकरंद सुरेश म्हाडेलकर ने दायर की है। याचिका में कहा गया है कि Rahul Gandhi ने पीड़ित बच्ची के माता-पिता से मिलने का फोटो ट्विटर पर अपलोड कर जुवेनाइल जस्टिस एक्ट और पॉक्सो एक्ट के प्रावधानों का उल्लंघन किया है। राहुल गांधी को पीड़िता के माता-पिता की पहचान को उजागर करने पर पॉक्सो एक्ट की धारा 23(2) के तहत छह महीने से एक साल तक की कैद होनी चाहिए। याचिका में जुवेनाइल जस्टिस एक्ट की धारा 74 के तहत FIR दर्ज करने की मांग की गई है।

यह भी पढ़ें: Baadshah ने ‘सबसे बड़े हीरो’ बचपन का प्यार फेम सहदेव के साथ किया काम

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles