कर्नाटका में इनकी हुई CM पद पर ताजपोशी, पूर्व CM येदियुरप्पा ने सुझाया था नाम

बेंगलरू: कर्नाटका में गरमाये सियासी माहौल के बीच बसवराज बोम्मई ने प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ले ली है। गवर्नर थावर चंद गहलोत ने बसवराज बोम्मई को राजभवन में पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। इससे पहले सोमवार को विधायक दल की बैठक में इस्तीफा देने वाले पूर्व मुख्यमंत्री BS येदियुरप्पा ने ही मंगलवार को बोम्मई के नाम का प्रस्ताव रखा था। बसवराज के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें बधाई दी है। मोदी ने कहा है कि बसवराज अनुभवी हैं और भरोसा है कि वे कर्नाटक में हमारी सरकार द्वारा किए गए असाधारण कामों को आगे बढ़ाएंगे।

उप-मुख्यमंत्री पर अभी फैसला नहीं

BJP नेता आर अशोक उप-मुख्यमंत्री पद को लेकर अपने नाम की चर्चा पर कहा है कि पार्टी इस बारे में तय करेगी। वहीं केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने भी कहा है कि कर्नाटक में उप-मुख्यमंत्री को लेकर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है। बीजेपी का राष्ट्रीय नेतृत्व इस बारे में तय करेगा।

जनता दल के साथ की राजनीति शुरुआत

28 जनवरी 1960 को जन्मे बसवराज सोमप्पा बोम्मई CM की कुर्सी संभालने से पहले कर्नाटक के गृह, कानून, संसदीय मामलों के मंत्री भी थे। उनके पिता एसआर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। मैकेनिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट बसवराज ने जनता दल के साथ राजनीति की शुरुआत की थी। वे धारवाड़ से दो बार 1998 और 2004 में कर्नाटक विधान परिषद के लिए चुने गए। इसके बाद वे जनता दल छोड़कर 2008 में भाजपा में शामिल हो गए। इसी साल वे हावेरी जिले के शिगगांव से विधायक चुने गए।

ये भी पढ़ें :  कर्नाटक के 23वें सीएम बने भाजपा विधायक दल के ये नेता, राज्यपाल ने दिलाई शपथ

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles