उत्तराखंड में आज पहाड़ी इलाको में भारी बारिश होने कि संभावना …

उत्तराखंड: पहाड़ी और मैदानी इलाकों में आज बारिश की संभावना है। इसके अलवा ऊंचाई वाले पहाड़ी क्षेत्रों में भारी बर्फबारी हो सकती है।आज सुबह से देहरादून के आसपास के इलाकों में बादल छाए रहे और रुक-रुक कर बारिश होती रही। जिससे ठंड बढ़ गई है।मौसम विभाग के अनुसार अगले 12 घंटों के दौरान उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ के तीन हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले कुछ इलाकों में भारी बर्फबारी हो सकती है। देहरादून, उत्तरकाशी, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, चंपावत और पिथौरागढ़ के ज्यादातर इलाकों में तेज बारिश और ओले गिरने का अनुमान है। प्रदेश के अन्य स्थानों पर भी बारिश और बर्फबारी के आसार हैं। मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि 22 फरवरी की शाम से मौसम सामान्य होने की संभावना है।शासन ने एडवाइजरी जारी करते हुए जिलाधिकारियों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। शासन ने बर्फबारी और बारिश की संभावना को देखते हुए जिलाधिकारियों को मार्ग खोलने के पर्याप्त इंतजाम रखने, पर्यटकों को उच्च पहाड़ी क्षेत्रों में आवाजाही प्रतिबंधित करने, ऊंचाई वाले स्थानों पर रहने वाले लोगों को निचले स्थानों पर भेजने के निर्देश जारी किए हैं।जौनसार में बारिश और बर्फबारी से लोगों को परेशनिया भी बढ़ गईं।

कई स्थानों पर बर्फबारी से सड़के बंद हो गई हैं। लगातार हो रही बर्फबारी के कारण लोखंडी और कोटी के बीच छह फीट तक बर्फ जमी है। इससे लोगों को आवाजाही में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पूरा क्षेत्र शीतलहर की चपेट में है।बर्फबारी के कारण त्यूनी-चकराता राष्ट्रीय राजमार्ग एक सप्ताह से बंद हैं। चकराता से कोटीकनासर तक बर्फ जमी होने से आवाजाही पूरी तरह प्रभावित है। इसके अलावा कोटी से बायला पूरा मार्ग बंद हैं। साथ ही कोटी से बुल्हाड़, मशक से बीनसोन, बीनसोन से हटाड़, त्यूनी से रजाणु, चकराता से देववन, लोखंडी से लोहारी सहित कई मार्ग बंद हैं। इसमें कुछ मार्ग पिछले एक सप्ताह तो कुछ एक महीने से बंद हैं। इससे लोहारी, लेबरा, उदावां, मशक, हटाड़, सताड़, रजाणु, गौरछा, पिंगुआ, थलटा, कुनवा, पिंगुआ, कुनींग, कांडोई भरम, बेगी, बागी, बुल्हाड व बायला सहित तीस से अधिक गांवों के ग्रामीणों का सड़क मार्ग से संपर्क कटा हुआ है।

Related Articles