पचास हजार की गाड़ी खरीद ली…लेकिन हेलमेट के पैसे नहीं हैं

helmet-55-568938e0d2338_exlst

लखनऊ। राजधानी में कितने लोग हेलमेट लगाकर दुपहिया वाहन चला रहे है , यह देखने के लिए लखनऊ के डीएम और एसएसपी खुद ही सड़क पर उतर आए। डीएम और एसएसपी ने जिन्हें बिना हेलमेट देखा, उन्हें दो विकल्प दिए। या तो तुरंत खरीदो या जुर्माना भरो या तुरंत हेलमेट खरीद कर लाओ और रसीद दिखाकर जुर्माने से छूट पाओ। ट्रैफिक पुलिस और जिला प्रशासन ने जगह-जगह स्टॉल लगवाकर लोगों को हेलमेट लगाने और खरीदने के लिए कहा।

एक निजी विश्वविद्यालय में पढ़ रही छात्रा स्वीटी को बिना हेलमेट देखा तो डीएम ने उसे रोककर समझाया। पूछा..बिटिया आप का हेलमेट कहां है ? जबाव आया- सॉरी अंकल हेलमेट नहीं है। डीएम ने कहा- चलिए खरीदकर लगाइए। स्वीटी ने कहा, पैसे नहीं हैं। तो डीएम ने खुद ही पैसे देकर हेलमेट खरीदवाया। कहा, बिटिया अब रोज हेलमेट पहनना। इस दौरान कई लोगों को प्रशासन की ओर से हेलमेट गिफ्ट किए गए। 257 लोगों ने हेलमेट खरीदा और 175 लोगों का चालान किया गया और 15 हजार रुपये जुर्माना वसूला गया।

helmet-52-5689380f54d14_exlst

मैं हेलमेट नहीं खरीद सकती…

पॉलीटेक्निक पर ही इंदिरानगर निवासी युवती पूजा एसओ विभूतिखंड ओपी तिवारी से भिड़ गई। उसका कहना था कि मैं हेलमेट नहीं खरीद सकती। आप मेरा चालान ही काट दीजिए। इस पर एसओ ने उसे समझाया कि हेलमेट उसकी ही सुरक्षा केलिए जरूरी है। युवती ने तर्क दिया कि उसकेबाल इससे खराब हो जाते हैं। इसी तरह एसआई गजेंद्र सिंह और उनकी टीम ने बाइक-स्कूटी सवारों को हेलमेट खरीदने के लिए जागरूक किया।

अपने पास से दे दिए रुपएहजरतगंज चौराहे पर गोमतीनगर निवासी अरविंद सिंह बिना हेलमेट लगाए निकल रहे थे। पुलिस ने रोका और हेलमेट खरीदने की अपील की। अरविंद ने अपना पर्स चेक किया तो उसमें महज 200 रुपये निकले। 300 रुपये हेलमेट की कीमत थी। वहां मौजूद टीआई लाइन शीतला प्रसाद पांडेय ने अपने पास से 100 रुपये दिए।

पत्नी को छोड़कर गए खरीदने

हजरतगंज चौराहे पर बुलेट सवार दंपति को ट्रैफिक सिपाही ने पकड़ लिया। हेलमेट न लगाए होने पर हेलमेट खरीदने को कहा गया। बुलेट सवार युवक अपनी पत्नी को गंज चौराहे पर उतारकर हेलमेट लेने गया और फिर लेकर लौटा। सीओ को दिखाने के बाद वहां से आगे बढ़ा।

फर्राटा भरते निकले स्टंटबाज

पॉलीटेक्निक चौराहे पर डीएम-एसएसपी लोगों को जागरूक करके हेलमेट पहनवा रहे थे। इसी दौरान स्टंटबाज युवक अपनी बाइकों से बिना हेलमेट लगाकर फर्राटा भरते निकले। ट्रैफिक के सिपाहियों ने स्टंटबाज का पीछा किया, पर वह हाथ नहीं आए।

…तो निरस्त किया जाएगा लाइसेंस

सीओ ट्रैफिक अवनीश मिश्रा ने बताया कि मोटर व्हीकल एक्ट के तहत हेलमेट न लगाने वालों पर पहली बार में 100 रुपये जुर्माने का प्रावधान है। इसके बाद दो या इससे अधिक बार पकड़े जाने पर 250 रुपये जुर्माना या लाइसेंस निरस्त किया जा सकता है। तीसरी बार बिना हेलमेट लगाए पकड़े गए तो लाइसेंस निरस्त होना तय है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button