Jammu-Kashmir बॉर्डर पर हाई अलर्ट, चुनौती का सामना करने के लिए सेना तैयार

तालिबान के अफगानिस्तान पर नियंत्रण करने के बाद आतंकी खतरों के बीच जम्मू-कश्मीर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर किसी भी चुनौती से निपटने के लिए सुरक्षा बल तैयार है

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के उत्तर-पश्चिम में तालिबान (Taliban) के अफगानिस्तान (Afghanistan) पर नियंत्रण करने के बाद आतंकी खतरों के बीच सीमा सुरक्षा बल (BSF) के महानिदेशक एस. एस देसवाल ने कहा कि सीमा सुरक्षा बल जम्मू एवं कश्मीर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर किसी भी चुनौती से निपटने में सक्षम हैं।

महानिदेशक देसवाल ने कहा कि बल के पास किसी भी घटना को रोकने के लिए प्रशिक्षण और सभी उपकरणों के माध्यम से आवश्यक सभी क्षमताएं हैं और डरने की कोई जरूरत नहीं है। दूसरी तरफ BSF अधिकारियों ने कहा है कि उसने IB के साथ अपने सुरक्षा तंत्र को मजबूत किया है और पश्चिमी और उत्तरी सीमा पर सैनिक हाई अलर्ट पर हैं।

पूरे अफगानिस्तान में तालिबान के रेसुररिक्शन के बाद सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। अफगानिस्तान में अशरफ गनी सरकार के तख्तापलट के रूप में एक जबरन शासन परिवर्तन देखा गया है। अशरफ गनी देश छोड़कर भाग निकले हैं और अब तालिबान ने कार्यभार संभाल लिया है।

जम्मू-कश्मीर में उग्रवादियों की घुसपैठ

BSF प्रमुख ने कहा कि पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में अपने उग्रवादियों को घुसपैठ कराने की कोशिश कर सकता है ताकि मौजूदा शांति और विकास प्रक्रिया को बाधित किया जा सके।

पश्चिम एशिया के विशेषज्ञ और वरिष्ठ पत्रकार कमर आगा को भी आशंका है कि अफगानिस्तान में हाल के घटनाक्रम का प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा और आने वाले दिनों में जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद का खतरा और बढ़ जाएगा।उन्होंने कहा, इसका असर न सिर्फ जम्मू-कश्मीर पर पड़ेगा, बल्कि इसका पूरे भारत पर असर पड़ेगा और पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर में इन तालिबानों का इस्तेमाल करेगा और वे दूसरे शहरों में भी आतंकियों को भेजेंगे। उन्होंने पहले भी ऐसा किया है जब उन्होंने 26/11 के मुंबई हमले सहित भारत के कई हिस्सों पर हमला किया था।

सीमाओं पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

यह देखते हुए कि सुरक्षा एजेंसियों ने अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं पर सुरक्षा व्यवस्था को पहले ही मजबूत कर दिया है, आगा ने आगे कहा कि एजेंसियां पड़ोसी देशों के घटनाक्रम पर करीब से नजर रख रही हैं और प्रौद्योगिकी आधारित निगरानी शुरू की गई है।

यह भी पढ़ेParalympic Games: पीएम मोदी ने बढ़ाया एथलीटों का हौसला, इस दिन से खेल की शुरूआत

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles