दाती महाराज मामले में पीड़िता की मांग पर दिल्ली हाईकोर्ट ने उठाया बड़ा कदम…

नई दिल्ली| बलात्कार के आरोप में घिरे शनिधाम के संस्थापक दाती महाराज मामले ंमें दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को नोटिस थमा दी है। दरअसल, दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को दाती महाराज के खिलाफ आरोपों की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) से कराने की मांग वाली एक महिला की तरफ से दाखिल एक याचिका पर शहर पुलिस से जवाब तलब किया है।

महिला ने दाती महाराज पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। न्यायमूर्ति मुक्ता गुप्ता ने मामले की अगली सुनवाई 30 अगस्त को तय कर दी। पीड़ित के वकील प्रदीप तिवारी ने आरोपी को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की।

उच्च न्यायालय ने पिछले सप्ताह एक एनजीओ को सलाह दी थी कि वह महिला के शपथ-पत्र के साथ एक नई याचिका दाखिल करे। एनजीओ ने मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी। पीठ ने कहा था कि याचिका दाखिल करने वाला एनजीओ पीड़ित नहीं है, इसलिए इस मामले में उसकी कोई अधिस्थिति नहीं बनती।

यह मामला तब प्रकाश में आया, जब एक महिला ने फतेहपुरी बेरी पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया कि दिल्ली स्थित श्री शांतिधाम ट्रस्ट के संस्थापक ने उसके साथ दुष्कर्म किया और अप्राकृतिक यौन संबंध बनाए।

पीड़िता ने पुलिस पर जांच में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया था और मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की थी। हाईकोर्ट में अधिवक्ता प्रदीप तिवारी के जरिये दायर याचिका में पीड़िता ने कहा था कि एफआईआर के डेढ़ माह बाद भी दिल्ली पुलिस ने दाती को गिरफ्तार नहीं किया है।

Related Articles