नेपाल के सियासत की बागडोर अब चीन के हाथ, प्रचंड को पीएम बनाने भेज रहा उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल

काठमांडू: नेपाल को भारत के खिलाफ करने की चीन की रणनीति को नेपाल में ही करारा झटका लगा है। चीन द्वारा बनाई गई नेपाल की सत्तारूढ़ कम्यूनिष्ट पार्टी दो धड़ो में बट चुकी है। जिसका एक खेमा प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली के समर्थन में है, तो वहीँ दूसरा खेमा प्रचंड के समर्थन में खड़ा है। नेपाल में कम्युनिस्ट पार्टी के विघटन के कारण छाये राजनितिक संकट के समाधान के चीन अपना एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल रविवार को काठमांडू भेज रहा है।

चीन अपने यहां से कम्युनिस्ट पार्टी के सबसे सीनियर नेता व विदेश विभाग के वाइस मिनिस्टर Guo Yezhou के साथ चार सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल रविवार को काठमांडू भेज रहा है। जिनका प्रमुख कार्य नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी को फिर से खड़ा करके सत्ता पर बैठाना। बता दें कि नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली के संसद विघटन करने के बाद नेपाल में राजनितिक संकट पैदा हो गया है। कम्युनिस्ट पार्टी दो धड़ो में बट चुकी है, जिसका चुनाव आयोग के फैसले के बाद विभाजन की औपचारिकता भी पूरी कर ली जायेगी। नेपाल में पैदा हुए राजनितिक में चीन प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली को दोषी करार दिया है। चीनी प्रतिनिधिमंडल ओली को पीएम की कुर्सी से हटाकर प्रचंड को सत्ता सौंपने के लिए रविवार को काठमांडू पहुच रहे है।

 इसे भी पढ़े: नगर निगम चुनावों में वोटरों को नहीं होगी परेशानी, 15 प्रकार के पहचान पत्र होंगे मान्य

नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी के करीब दर्जन भर नेता रविवार को चीनी प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात करेंगे। जिसमें प्रचण्ड, माधव नेपाल, नन्द किशोर, अग्नी प्रसाद सापकोटा,कृष्ण बहादुर महरा, और ओली की कैबिनेट से इस्तीफा देने वाले सात मंत्री भी शामिल है। काठमांडू स्थित चीनी राजदूत होऊ यांकी पिछले 24 घंटे में प्रचंड से तीन बार मुलाकात कर चुके है। इसके अलावा चीनी राजदूत झलनाथ खनाल, बामदेव गौतम और माधव नेपाल से भी मुलाकात करके संसद पुनार्स्थापित करने की तैयारी शुरू कर दी है।

वहीँ भारत समर्थित कहीं जाने वाली पार्टी , जनता समाजवादी पार्टी के नेता डा. बाबूराम भट्टराई और उपेन्द्र यादव से भी चीनी राजदूत ने मिलकर इनको अपने पक्ष में कर लिया। हालाकिं मुख्य विपक्षी दल नेपाली कांग्रेस ने ओली के इस असंवैधानिक कदम का जवाब देने के लिए चुनाव का रुख किया है।

Related Articles

Back to top button