एशिया का सबसे ऊंचा रोपवे बन रहा आपके प्रदेश में

0

utt-ropeway-1

देहरादून। उत्तराखंड में जल्द ही एशिया के सबसे ऊंचे रोपवे के निर्माण का काम शुरु हो जायेगा। ये रोपवे तीन साल में बनकर तैयार होगा। हेमकुंड-घांघरिया रोपवे परियोजना का निर्माण कार्य जल्द ही शुरू होगा। उत्तराखंड इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट कंपनी (यूआईपीसी) को परियोजना सहयोगी मिल गया है। इसके साथ ही कंपनी को दो जल विद्युत परियोजनाओं के निर्माण के काम को भी आगे बढ़ाने में सफलता मिली है। अब मुख्य सचिव शत्रुघ्न सिंह इस कंपनी के चेयरमैन हैं।

ये भी पढ़ें – अब तीर्थयात्री आराम से पहुंच सकेंगे केदारनाथ…!

utt-ropeway-4

हाल ही में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में बताया गया कि हेमकुंड-घांघरिया रोपवे एशिया में सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित रोपवे होगा। इस रोपवे को तीन साल में तैयार किया जाना है। यहीं पर घांघरिया से लेकर गोंविदघाट तक का रोपवे भी तैयार किया जा रहा है। गोविंदघाट रोपवे का सर्वे पूरा हो चुका है। दस किलोमीटर तक के इस रोपवे की रिपोर्ट भी तैयार की जा रही है।

utt-ropeway-3

देहरादून-मसूरी रोपवे की तैयारियां भी जोरों पर

वहीं देहरादून-मसूरी रोपवे को लेकर भी तैयारियां जोरों पर हैं। इस रोपवे के लिये पुरुकुल गांव से हाथीपांव तक छह किमी की निविदा पहले चरण के लिए तैयार है। इसमें पुरुकुल गांव की दो हेक्टेयर और हाथीपांव की पांच हेक्टयर भूमि ली जाएगी। यह भूमि पर्यटन विभाग की है। इस पर हट, जार्ज एवरेस्ट म्यूजियम, पार्किंग आदि पर्यटन संबंधी सुविधाओं को विकसित किया जायेगा।

 

loading...
शेयर करें