IPL
IPL

Hindi Divas Special: खुद को समझते हो हिंदी का ज्ञाता तो दो इन सवालों के जवाब

सबसे पहले वर्ष 1918 में महात्मा गांधी (Mahatma gandhi) ने हिंदी साहित्य सम्मेलन में हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने पर जोर दिया था। इसे गांधी जी ने जनमानस की भाषा भी कहा था। 26 जनवरी 1950 को संविधान की धारा 343 के तहत 14 सितंबर को हिंदी दिवस के तौर पर मनाने का फैसला लिया गया था।

नई दिल्ली:10 जनवरी, 2006 को भारत में पहली बार हिंदी दिवस (Hindi Divas) मनाया गया था। कितना अजीब है न, जिस देश की मातृभषा हिंदी हो वहां के लोग ही हिंदी बोलना पसंद नहीं करते। इस देश में हिंदी बोलने पर लोगों को जज किया जाता है। आपके नॉलेज को भी अंग्रेजी के आधार पर ही नापा जाता है। स्कूल, कॉलेज और ऑफिस अब हर जगहों पर हिंदी से ज्यादा अंग्रेजी का बोल-बाला है।

क्या है हिंदी का इतिहास ?

सबसे पहले वर्ष 1918 में महात्मा गांधी (Mahatma gandhi) ने हिंदी साहित्य सम्मेलन में हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने पर जोर दिया था। इसे गांधी जी ने जनमानस की भाषा भी कहा था। 26 जनवरी 1950 को संविधान की धारा 343 के तहत 14 सितंबर को हिंदी दिवस के तौर पर मनाने का फैसला लिया गया था।

दीजिए इन प्रश्नों के जवाब

जब साल 2006 में पहली बार हिंदी दिवस (Hindi Divas) मनाया गया, तब इसका उद्देश्य हिंदी को जन-जन तक पहुंचाना था और अंतरराष्ट्रीय दर्जा दिलाना है। तो आज हिंदी दिवस के मौके पर हम आपको दे रहे हैं कुछ सवाब जिनका जवाब आपको देना होगा। अगर आप इन सारे प्रश्नों का सही जवाब देते हैं तो आप भी पक्के हिंदुस्तानी हैं जिसे अपने देश और हिंदी से  प्यार है-

पहला सवाल

भारतीय संविधान में कितनी राजभाषाएं हैं?

विकल्प – 24, 22, 14, 25

सही जवाब – 22

दूसरा सवाल 

ब्लड प्रेशर को हिंदी में क्या कहते हैं?

विकल्प – खूनी दवाब, रक्तचाप, रुक्त का दवाब, खून का दवाब

सही जवाब – रक्तचाप

तीसरा सवाल

क्रिकेट के शब्द LBW को हिंदी में क्या कहते हैं?

विकल्प – पैर आउट, पगबाधा, विकेट से पहले आउट, विकेट से पहले पकड़ लिया

सही जवाब – पगबाधा

चौथा सवाल

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पहले नाम यानी ‘नरेंद्र’ का मतलब क्या है?

विकल्प – राजा, शिव, विष्णु, इंद्र

सही जवाब- राजा

पांचवा सवाल

आसमान पर चढ़ाना का अर्थ है –

विकल्प- अत्यधिक अभिमान करना, कठिन काम के लिए प्रेरित करना, बहुत शोर करना, अत्यधिक प्रशंसा करना

सही जवाब – अत्यधिक प्रशंसा करना

यह भी पढ़ें: Blackout in Pakistan: 21 करोड़ की आबादी वाले देश में छाया अंधेरा

यह भी पढ़ें: Blackout in Pakistan: 21 करोड़ की आबादी वाले देश में छाया अंधेरा

 

Related Articles

Back to top button