हिन्दू महासभा ने किया जागरुक, शादी समारोह में फिजूलखर्चो से बचे

हिन्दू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष ऋषि त्रिवेदी ने रविवार को कहा कि हिन्दू समाज को शादी समारोह में न सिर्फ फिजूलखर्चों से बचना चाहिए बल्कि सामूहिक विवाह के प्रचलन पर जोर देना चाहिए।

लखनऊ: शादी समारोह में आप सभी जाते होंगे और ये भी देखा होगा हर किसी वर्ग का इंसान अपने बजट के हिसाब से खर्च करता है। शादी समारोह अनेको प्रकार के फिजूल खर्चे भी करते है। इन फिजूल खर्चो को खत्म करने के लिए अखिल भारत हिन्दू महासभा सामने आए है। हिन्दू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष ऋषि त्रिवेदी ने रविवार को कहा कि हिन्दू समाज को शादी समारोह में न सिर्फ फिजूलखर्चों से बचना चाहिए बल्कि सामूहिक विवाह के प्रचलन पर जोर देना चाहिए।

चौक में आयोजित स्वर्णकार चेतना मंच एवं स्वर्णकार महासभा के सामूहिक विवाह समारोह में ऋषि त्रिवेदी ने कहा कि सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन अच्छा कार्य ह। इस तरह के कार्य सिर्फ निर्धन और मध्यम वर्ग परिवारों तक ही सीमित नहीं रहना चाहिए, बल्कि आर्थिक रूप से मजबूत परिवारों के लोगों को भी आगे आकर इस तरह सामूहिक विवाह समारोह को प्रोत्साहित करना चाहिए।

ये भी पढ़ें : झारखंड में खेती की आधुनिक विधि अपनाकर आत्मनिर्भर बनतीं महिला किसान

इस मौके पर सामूहिक विवाह समारोह के प्रबन्धकर्ता एवं हिन्दू महासभा व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष श्याम करण वर्मा ने बताया कि रविवार को हुये इस आयोजन में कई कन्याओं का विवाह सम्पन्न कराया गया। इसी तरह हमारे समाज के कई वर्गो को इसी तरह के सामूहिक विवाह करानी चाहिए।

Related Articles