हिजबुल मुजाहिदीन ड्रग्स केस: NIA को मिली बड़ी सफलता, 20 लाख बरामद

नई दिल्ली: राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण एनआईए (NIA) ने पाकिस्तान स्थित दहशतगर्द समूह हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े मादक-पदार्थ मामले में पंजाब के अमृतसर और गुरदासपुर में छापेमारी की तथा एक हवाला ऑपरेटर के यहां 20 लाख रुपये एवं 130 कारतूस बरामद किए।

एनआईए (NIA) के प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि छापेमारी की कार्रवाई अमृतसर के मनप्रीत सिंह के परिसरों पर की गई। वह रणजीत सिंह का करीबी सहयोगी है। रणजीत सिंह के खिलाफ हिजबुल के मादक पदार्थ-आतंकवाद मामले में आरोप पत्र दायर किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि नाइकू हिजबुल का तत्कालीन कमांडर है और जम्मू कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के वास्ते कोष हासिल करने के लिए अमृतसर आया था।

NIA के अधिकारी के मुताबिक, पिछले साल 25 अप्रैल को पंजाब पुलिस ने आरोपी के कब्जे से एक ट्रक और 29 लाख रुपये जब्त किए थे। अधिकारी ने बताया कि पंजाब पुलिस ने 29 लाख रुपये जब्त करने के मामले में पिछले साल 25 अप्रैल को गैर कानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की थी। ये पैसा मादक पदार्थ बेचकर अर्जित किया गया था। एनआईए ने पिछले साल आठ मई को मामला फिर से दर्ज किया और मोहाली की विशेष एनआईए अदालत में 11 आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था।

20 लाख कैश और 130 राउंड कारतूस बरामद

अधिकारी के मुताबित कि मनप्रीत सिंह मादक पदार्थ की बिक्री से अर्जित 35 लाख रुपये और हथियार मार्च 2020 में बिक्रम सिंह को सौंप दिए थे जो रणजीत सिंह का रिश्तेदार है। बता दे बीते गुरुवार को संदिग्ध के घर की ली गई तलाशी के दौरान, मादक पदार्थ की बिक्री से अर्जित 20 लाख रुपये, 9 एमएम की 130 कारतूस, मोबाइल फोन, पेन ड्राइव, एक कार, एक दो पहिया वाहन, संपत्ति से संबंधित दस्तावेज, अन्य आपत्तिजनक कागज़ात सहित कई चीज़े जब्त की गई हैं।

यह भी पढ़ें: चुनाव जीतने के लिए TMC के गद्दारों का इस्तेमाल कर रही भाजपा – ममता बनर्जी

Related Articles

Back to top button