Karvy के फ्रीज़ड डीमैट अकाउंट के होल्डर अब फिर से कर सकेंगे ट्रेडिंग

मुंबई : फर्जीवाड़े में पकड़े जाने के बाद से बंद पड़े Karvy स्टॉक ब्रोकिंग लिमिटेड के डीमैट अकाउंट होल्डर अब देश के सबसे बड़े ब्रोकरेज फर्म्स में से एक आईआईएफएल सिक्योरिटीज के प्लेटफॉर्म से शेयर मार्केट में ट्रेडिंग और इंवेस्टमेंट कर सकेंगे। आप की जानकारी के लिए बताते चलें की फरवरी, 2021 में आईआईएफएल ने कार्वी में खोले गए करीब 11 लाख डीमैट अकाउंट के लिए बोली जीती थी।

यह भी पढ़ें : जानिए RBI के इस कदम से पावर को छोड़ बाकी सेक्टर क्यों हैं खुश

जिसके बाद अब ब्रोकरेज फर्म ने कार्वी के फ्रीज किए गए इन डीमैट अकाउंट को एक्टिवेट करना शुरू कर दिया है। आईआईएफएल ने हाल में जारी अपने बयान में कहा कि कार्वी के डीमैट अकाउंट होल्डर अब उसके प्लेटफॉर्म से स्टॉक मार्केट में ट्रेड कर सकेंगे। इसके लिए आईआईएफएल ने एक डेडिकेटेड वेव प्लेटफॉर्म भी डेवलप किया है। आपको बता दें कि इन 11 लाख डीमैट अकाउंटस का कुल ऐसेट अंडर मैनेजमेंट यानी इन अकाउंटस में जमा कुल राशि 3 लाख करोड़ रुपये है।

फरवरी में हुई इस बिड को जीतने के बाद जेरोधा और Upstox के बाद आईआईएफएल देश की तीसरी सबसे बड़ी स्टॉक ब्रोकिंग प्लेटफॉर्म बन गई है।

अपने फंड्स के खातिर Karvy ने क्लायंट्स के शेयर लगा दिए थे दांव पर 

कार्वी ने फंड जुटाने के लिए अपने क्लायंट्स के शेयर को गिरवी रखकर कर्ज ले लिया था। इस स्कैम का पता जब SEBI को चला तो उसने ने कार्वी के लाइसेंस को रद्द कर दिया और ट्रेडिंग पर रोक लगा दी। इससे BSE, NSE और MSE में उसके ट्रेडिंग टर्मिनल बंद हो गए।

यह भी पढ़ें : इस फिल्म से धमाल मचाने लौट आयीं हैं हॉलीवुड baddie : Angelina Jolie

Related Articles