गृह मंत्री अमित शाह ने मोबाइल कोविड-19 आरटी पीसीआर लैब का किया उद्घाटन

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को यहां भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के परिसर में मोबाइल कोविड-19 आरटी पीसीआर लैब का उद्घाटन किया।

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को यहां भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के परिसर में मोबाइल कोविड-19 आरटी पीसीआर लैब का उद्घाटन किया। यह मोबाइल लेब आईसीएमआर और स्पाइसहेल्थ ने संयुक्तरूप से शुरू की है। इस मौके पर केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन भी मौजूद थे। स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग के सचिव और आईसीएमआर के महानिदेशक डॉक्टर बलराम भार्गव, स्पाइसजेट के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजय सिंह तथा स्पाइस हेल्थ की सीईओ अवनी सिंह भी उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल हुए।

ये लैब और ऐसी ही अन्य लैब, जिन्हें स्थापित करने की योजना है, से कोविड-19 जांच क्षमता में और वृद्धि होगी। इस लैब को एनएबीएल ने प्रमाणित किया है और आईसीएमआर ने इसे मान्यता दी है। कोविड-19 के लिए आरटी पीसीआर जांच अत्यंत सटीक और महत्वपूर्ण है। इस टेस्ट की लागत 499 रुपये होगी जो आईसीएमआर वहन करेगी। आम जनता के लिए यह टेस्ट निशुल्क होगा। लोगों को सुलभ कोविड-19 जांच उपलब्ध कराने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण प्रयास है।

ये भी पढ़े : पिता की मौत पर भावुक हुए सिराज, बोले वह आत्मा से सदैव मेरे साथ रहेंगे

नमूना लेने के बाद छह से आठ घंटे के अंदर टेस्ट रिपोर्ट उपलब्ध होगी जबकि इसी तरह के टेस्ट की रिपोर्ट मिलने में औसतन 24 से 48 घंटे का समय लगता है। स्पाइसहेल्थ ने देश भर में जांच सुविधाएँ और कलेक्शन सेंटर स्थापित करने के लिए आईसीएमआर के साथ एक ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। इसके तहत दिल्ली में पहली जांच सुविधा स्थापित की गई है। आने वाले दिनों में राष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न हिस्सों में ऐसी और अधिक सुविधाएँ स्थापित की जाएंगी। पहले चरण में 10 लैब स्थापित करने की योजना है। शुरुआत में यह लैब प्रतिदिन 1,000 नमूनों की जांच करेगी, जिसे बाद में बढ़ाकर 3,000 नमूने प्रतिदिन तक किया जा सकता है।

Related Articles