IPL
IPL

गृह मंत्री को बॉम्बे हाईकोर्ट से करारा झटका, CBI करेगी मामले की जांच

महाराष्ट्र: मुंबई (Mumbai) के पूर्व पुलिस कमिश्नर (Former Police Commissioner) परमबीर सिंह (Parambir Singh) के द्वारा लगाए गए आरोपों पर बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने भ्रष्टाचार (Corruption) के आरोप झेल रहे महाराष्ट्र के गृह मंत्री (Home Minister) अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) की जांच CBI को करने के आदेश दिए हैं। बॉम्बे हाईकोर्ट ने 15 दिन के अंदर जांच रिपोर्ट सौंपने को भी कहा है। बता दें कि परमबीर सिंह ने गृहमंत्री देशमुख के खिलाफ हाईकोर्ट में 100 करोड़ रुपए वसूली की याचिका लगाई थी।

गृह मंत्री के खिलाफ CBI जांच के आदेश

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambir Singh) के द्वारा 100 करोड़ वसूली करने वाले आरोप पर हाईकोर्ट ने गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) के खिलाफ CBI जांच करने के आदेश दिए हैं। CBI को जांच रिपोर्ट 15 दिनों के अंदर हाईकोर्ट को सौंपनी होगी।

याचिका पर क्या बोला कोर्ट?

पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह के द्वारा दी गई याचिका पर कोर्ट ने सुनवाई करते हुए कहा कि परमबीर सिंह के आरोप गंभीर हैं। इस मामले में FIR दर्ज हो चुकी है और पुलिस जांच की जरूरत है। कोर्ट ने कहा कि अनिल देशमुख पर ये आरोप लगे हैं इसकी जांच के लिए पुलिस पर निर्भर नहीं रह सकते हैं। इसकी प्राथमिक और निष्पक्ष जांच के लिए CBI की आवश्यकता है।

100 करोड़ रुपये की वसूली का लगा था आरोप

मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि अनिल देशमुख ने सचिन वाझे को हर महीने मुंबई से 100 करोड़ रुपये की वसूली का टारगेट दिया था। सचिन वाझे को फिलहाल NIA ने मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली संदिग्ध कार और उसके मालिक कहे जा रहे मनसुख हिरेन की हत्या के मामले में गिरफ्तार किया है।

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़: गृह मंत्री Amit Shah घटना स्थल रवाना, बोले, ‘खून-खराबा बर्दाश्त नहीं करेंगे’

Related Articles

Back to top button