रोती हुई बेटी ने पूछा- हर बार सिपाही का परिवार ही क्यों रोता है

नई दिल्ली। बीएसएफ विमान हादसे में मारे गए जवानों को श्रद्धांजलि देने पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह को उनके परिजनों के कई तीखे सवालों का सामना करना पड़ा। एक जवान की बेटी ने रोते हुए पूछा कि हमेशा सैनिक के परिवार को ही क्यों रोना पड़ता है?  आप मुझे जवाब दीजिए सर, इतना पुराना जहाज? हर बार हमारे ही परिवार क्यों रोते हैं? हर बार सिपाही का परिवार ही क्यों रोता है? एक जवान के परिवार वालों ने बार-बार खराब हालत वाले विमान की दशा पर राजनाथ को सवालों से घेर लिया। भावुक हुए गृहमंत्री ने सिर्फ सभी परिजनों को ढांढस बंधाया और सांत्‍वना दी।

rajnath

विमान हादसे में मरे जवानों के लिए सफदरजंग हवाई अड़डे पर सफदरजंग हवाईअड्डे पर श्रद्धांजलि समारोह आयोजित हुआ। इसमें केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू और दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग ने भी जवानों को श्रद्धांजलि दी।

विमान हादसे में मारे गए थे सभी 10 लोग

बीएसएफ के विमान में सवार सभी 10 लोगों की मौत हो गई थी। प्लेन में उस समय पायलट भगवती प्रसाद भट्ट, सह पायलट राजेश शिवरैन, डिप्टी कमांडेंट डी कुमार, इंस्पेक्टर एसएन शर्मा, आरके यादव, सब इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिंह, सीएल शर्मा, रवींद्र कुमार, एएसआई डीपी चौहान और कांस्टेबल केआर रावत सवार थे। विमान दुर्घटना में जान गंवाने वाले सभी जवानों के शव अंतिम संस्कार के लिए उनके परिजनों को सौंपे जाएंगे। बीएसएफ के महानिदेशक डीके पाठक ने मंगलवार को कहा था, बीएसएफ के फंड में से 15-15 लाख रुपये के अतिरिक्त सरकार की ओर से पीड़ित परिवारों को अनुग्रह राशि के तौर पर 10-10 लाख रुपये की सहायता दी जाएगी।

20 साल पुराने विमान में ऐसे हुआ हादसा

विमान हादसे की वजह किसी तकनीकी खराबी को माना जा रहा है, क्योंकि सुबह विजिबिलिटी बिल्कुल ठीक थी। बीएसएफ के अधिकारियों के मुताबिक, यह प्लेन 20 साल पुराना था। विमान ने सुबह करीब 9:30 बजे एयरपोर्ट के टेक्निकल एरिया से उड़ान भरी। उड़ान भरते ही पॉयलट को प्लेन में खराबी का पता चला और उसने प्लेन को रनवे की तरफ वापस मोड़ा। एयरपोर्ट पर फुल इमरजेंसी घोषित कर दी गई। पहले प्लेन द्वारका के रिहाइशी इलाके से गुजरा उसके बाद सुबह ठीक 9:37  बजे एक पेड़ से टकराया। इसके बाद रनवे की बाहरी दीवार तोड़ते हुए एक बड़े सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट से जा टकराया।

रांची जा रहा था दल

यह विमान बीएसएफ का था जो रनवे से उड़ान भरते ही क्रैश हो गया। देखते ही देखते यह छोटा विमान मलबे में बदल गया। विमान में सवार सभी 10 लोग इस हादसे में मारे गए। पुलिस के मुताबिक यह बीच क्राफ्ट सुपरकिंग एयर वी-200 प्लेन था, जिसमें सवार टेक्निकल टीम रांची जा रही थी। वहां उन्हें एक हेलीकॉप्टर को ठीक करना था।

Related Articles

Leave a Reply